गोपालगंज: उत्पाद विभाग की टीम पर शराब माफियाओं ने की फायरिंग, बाल बाल बचे अधिकारी

0

टीम ने पीछा कर दो धंधेबाजों को किया गिरफ्तार, हथियार और कारतूस भी किए गए बरामद

गोपालगंज: शराब माफियाओं ने शुक्रवार को उत्पाद विभाग की टीम पर फायरिंग कर सनसनी फैला दी। इस घटना में जवान और अधिकारी बाल बाल बच गए। यह कोई पहली घटना नहीं है। इसके पहले भी कई बार उत्पाद विभाग और जिला पुलिस बल पर शराब माफिया हमला कर चुके है। गोपालपुर थाना क्षेत्र के मंगरुछापर गांव के समीप शराब तस्करों ने उत्पाद विभाग की टीम पर हमला कर दिया। इस दौरान तस्करों ने जवानों और अधिकारियों पर फायरिंग भी की। जिसके बाद टीम ने दो तस्करों को पीछा कर धर दबोचा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

उनके पास से स्वचालित पिस्टल और चार जिंदा कारतूस बरामद हुआ। जबकि उनके कुछ साथी भागने में सफल रहे। जिनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।पकड़े गए तस्करों में मीरगंज थाना क्षेत्र के अवदान पट्टी गांव निवासी हरेराम यादव और फुलवरिया थाना क्षेत्र के माधव मठ गांव निवासी बृजेश साह शामिल है।दोनों से पूछताछ करने के बाद जेल भेज दिया गया।

तस्करों के पास से मिली डेढ़ लाख की शराब उत्पाद विभाग की टीम ने दोनों तस्करों के पास से 582 बोतल शराब बरामद की।शराब की खेप यूपी से लाई जा रही थी। तस्करों के पास से 395 बोतल देशी और 187 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद हुई। इसके बाद उत्पाद विभाग की टीम ने दोनों को गोपालपुर थाना को सौंप दिया। वहीं चोरी की दो बाइक भी बरामद हुई है।जिसके बारे में पता किया का रहा है।इस मामले में उत्पाद विभाग के अवर निरीक्षक सुनील कुमार के बयान पर गोपालपुर थाने में दोनों तस्करों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद पुलिस ने पूछताछ के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

शराब लाने की सूचना पर टीम कर रही थी वाहन जांच

उत्पाद विभाग को सूचना मिली थी कि यूपी से शराब की खेप लाई जा रही है। सूचना मिलने के साथ ही अवर निरीक्षक सुनील कुमार साह के नेतृत्व में मंगरूछापर गांव के पास शराब तस्करों के टोह में खड़ी थी। इसी दौरान शराब तस्कर बाइक से आ रहे थे।टीम ने जब दोनों को रोकना चाहा तो तस्करों ने फायरिंग करनी शुरू कर दी।इसके बाद पुलिस ने कुछ दूर तक पीछा कर दोनों को धर दबोचा।