गोपालगंज:- किसानों पर दमन के खिलाफ माले ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंका

0

गोपालगंज: किसान विरोधी तीनो कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर देश भर के किसान सड़क पर उतरे है उनकी मांग को मानने व वापस लेने के बजाय मोदी सरकार उनके आवाज को दबाने के लिए दमन का सहारा ले रही है। हम इस दमन की कड़ी शब्दो मे निंदा करते है तथा तत्काल किसान विरोधी, मजदूर विरोधी कानून को वापस लेने की मांग करते है उक्त बातें भाकपा माले के जिला सचिव इंद्रजीत चौरसिया ने किसानों पर हो रहे दमन के खिलाफ राज्यवयापी कार्यक्रम के दौरान शहर में जुलुश निकाल मौनिया चौक पर प्रधानमंत्री का पुतला फूंका और सभा की तथा सभा के दौरान उक्त बातें कही,आगे उन्होंने कहा कि कोई भी कानून जनता के लिए बनाया जाता है यह ऐसा कानून है कि इस कानून के खिलाफ जनता सड़को पर है वैसी स्थिति में निश्चित ही कानून को वापस ले लेना चाहिए मगर मोदी सरकार इस कानून को वापस लेने के लिए तैयार नही है

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

तो वैसी स्थिति में समझ लेना चाहिए कि यह मोदी सरकार कुछ मुट्ठी भर लोगो के लिए यानी कारपोरेट घरानों के लिए यह कानून बनायीं है भाकपा माले किसानों के आंदोलन के साथ है और इस आंदोलन को और आगे बढ़ाएगा सभा को सम्बोधित करते हुए इनौस राज्य परिषद सदस्य अजात शत्रु ने कहा कि मोदी हुकूमत देश मे तानाशाही रवैया अपनाये हुए है और अपने सत्ता का दुरुपयोग करके देश मे किसानों के खिलाफ देश के जवानों को खड़ा कर दिया है वर्तमान सरकार जनमानस में सांप्रदायिकता का जहर बोने का काम कर रही है। नेताओं द्वारा किसान विरोधी तीनों काले कानूनों को वापस लेने की मांग की गई। मौके पर आइसा नेता धनंजय सिंह, धर्मेंद्र शर्मा, जितेंद्र यादव, अरफान अली, अंसार आलम, शफी आलम, राजाराम मांझी, समेत अनेक लोग शामिल हुए।