गोपालगंज: भोरे में दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर विवाहिता की गला दबाकर हत्या

0

गोपालगंज: बिहार में दहेज के लिए विवाहिता की हत्या का मामला, सरकार के जारी कानून के बाद भी थमने का नाम नहीं ले रहे हैं, बिहार में आए दिन दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर विवाहिता इसकी बलि चढ़ जाती है, ऐसा भी नहीं कि बिहार की नीतीश सरकार ने दहेज बंदी को लेकर कड़े कानून लागू न किए हो, लेकिन दहेज के सौदागर इस कानून को पलीता लगा रहे हैं,मामला बिहार के गोपालगंज जिले के भोरे थाना इलाके के कुशहा गांव से फिर सामने आया है, जहां दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर एक विवाहिता की गला दबाकर हत्या कर दी गई है, बरहाल घटना की सूचना पर पहुंची भोरे पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए गोपालगंज सदर अस्पताल भेज दिया है, इसी बीच पुलिस की चली इस कार्रवाई में पुलिस ने दो महिला सहित मृतक विवाहिता के पति को भी गिरफ्तार कर लिया है, वहीं इस मामले में मृत महिला के पिता ने बेटी की गला दबाकर हत्या किए जाने के मामले में पति, सास ससुर दो ननद पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

दर्ज प्राथमिकी के मुताबिक यह आरोप है कि भोरे थाना इलाके के कुकुर भूका गांव निवासी तूफानी भगत ने अपनी पुत्री पिंकी कुमारी की शादी,भोरे थाना क्षेत्र के कुशह्वा गांव निवासी हरिशंकर भगत के बेटे विश्वकर्मा सिंह के साथ वर्ष 2019 में 25 फरवरी को हिंदू रीति रिवाज के साथ बड़ी धूमधाम से शादी की थी, 26 फरवरी को पिंकी की विदाई परिजनों ने की थी, शादी के 1 साल तक सब कुछ ठीक-ठाक रहा, और इसी बीच पिंकी ने एक बच्चे को जन्म दिया जिसका नाम विवेक है, वही शादी के 2 साल बीत जाने के बाद ससुराल वालों के द्वारा पिंकी से पांच लाख रुपया दहेज की मांग की गई, पिंकी ने जब इसका विरोध जताया तो परिजनों के द्वारा उसके साथ प्रताड़ित करने का काम शुरू कर दिया गया, इससे भी जी नहीं भरा तो दहेज लोभीयो ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी, इस मामले में मृतका के पिता तूफानी कुशवाहा ने स्थानीय थाने में 5 लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई है, जिसमें पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुये पति विश्वकर्मा सिंह,सास रजूली देवी, और हरिशंकर सिंह की पुत्री पूजा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।