कोरोना संकट के बीच गोपालगंज पर मंडराने लगा है बाढ़-कटाव का खतरा

0
gopalganj me baad

गोपालगंज : कोरोना के संकट का सामना कर रहे गोपालगंज के ऊपर अब बाढ़ और कटाव का संकट भी पैदा हो गया है.गंडक के जलस्तर बढ़ने के साथ ही तटबंधों पर जहां दबाव बढ़ गया है. गोपालगंज जिले के बैकुंठपुर के सलेमपुर में गंडक से कटाव शुरू हो गया है. कटाव की वजह से ग्रामीणों को बाढ़ का खतरा सताने लगा है. गौरतलब है कि अगले महीने करीब 15 जून मानसून के आने की संभावना जताई जा रही है. मानसून से पहले ही गोपालगंज में गंडक नदी से तटबंधो की मजबूती को कार्य संपन्न करा लेने का दावा किया गया है. अगर 15 जून तक कटाव निरोधी कार्य संपन्न नहीं कराये गए तो जिले को दोबारा बाढ़ की समस्या से जूझना पड़ सकता है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

स्थानीय विधायक की पहल से जल संसाधन विभाग ने कटाव निरोधी कार्य शुरू करने के लिए डीपीआर तैयार करने की कवायद शुरू कर दी है. बैकुंठपुर के भाजपा विधायक व प्रदेश उपाध्यक्ष मिथिलेश कुमार तिवारी के मुताबिक एक तरफ पूरा देश कोरोना के संकट से जूझ रहा है. इन सबके बीच गोपालगंज का कहर देखने को मिल रहा है. यहाँ सलेमपुर में गंडक से भीषण कटाव शुरू हो गया है.

विधायक ने कहा कि इसको लेकर उन्होंने जल संसाधन मंत्री संजय कुमार झा से बात की थी. जल संसाधन मंत्री ने साढ़े तीन करोड़ रूपये का डीपीआर तैयार कर जल्द ही कटाव निरोधी कार्य शुरू करने का आश्वासन दिया है. भाजपा विधायक ने कहा की कोरोना काल में गोपालगंज में बाढ़ आता है. तो यहां के लोगो को कोरोना और बाढ़ की दोहरी मार झेलनी पड़ सकती है.