गोपालगंज: सदर अस्पताल की लापरवाही ने एक मरीज की ले ली जान

0

गोपालगंज: सदर अस्पताल की लापरवाही ने एक मरीज की जान ले ली है। बिजली गुल रहने की बात कह अस्पताल कर्मी डेढ घंटे तक मरीज के परिजनों को इधर-उधर टरकाते रहे, लेकिन किसी ने भी दर्द से कराह रही महिला पर दया नहीं दिखाई। जब बिजली आई तब तक मरीज ने एक्स-रे रूम के गेट पर ही तड़प-तड़प कर दम तोड़ दिया।वही उचकागांव थाना क्षेत्र के इटवापुल के पास 11 बजे चारपहिया वाहन की चपेट में आने से एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई, जिसे इलाज के लिए सदर असप्ताल गोपालगंज में करीब 12: 30 बजे भर्ती कराया गया। घटना के बारे में बताया जा रहा रहा है कि नारायणपुर गांव निवासी महिला अलिम नेशा जरूरी काम से इटवा गांव गई थी। लौटने के दौरान सड़क पार कर रही थी कि चारपहिया वाहन की चपेट में आकर बुरी तरह जख्मी हो गई।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

ग्रामीणों की मदद से घटनास्थल से करीब 10 किलो मीटर दूर सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। वही सदर अस्पताल में महिला व तीमारदारों को डेढ़ घंटे तक इधर से उधर दौड़ाया गया। इसके बाद करीब 2 बजे एक्स-रे के लिए भेजा गया। एक्सरे वार्ड में बिजली नहीं होने की वजह से उसका एक्स-रे नहीं हो सका। उसे बिजली आने तक इंतज़ार करने को कहा गया। इस बीच बिजली के इंतजार में महिला ने दम तोड़ दिया। वही मृतका के परिजन मो. नौशाद ने बताया कि अस्पताल की लापरवाही के कारण उसके मरीज की मौत हो गई है। मरीज की मौत पर आक्रोशित परिजनों ने अस्पताल में हंगामा किया तो पुलिस ने उल्टे परिजनों पर ही लाठियां बरसा दीं। वही अस्पताल में जेनरेटर की व्यवस्था है पर घटना के समय उसका ऑपरेटर नहीं था। इधर अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि मृतका के परिजनों के आरोपों की जांच की जा रही है। सख्त कार्रवाई होगी।