गोपालगंज: गैस एजेंसी रंगदारी मामले का एसपी ने किया खुलासा

0

गोपालगंज: भोरे में प्रतिभा गैस एजेंसी से मांगे गए 10 लाख की रंगदारी के मामले में गोपालगंज पुलिस अधीक्षक मनोज तिवारी ने कांड अनुसंधान के बाद बड़े खुलासे किए हैं। पत्रकारों से प्रेस वार्ता के दौरान एसपी ने बताया कि स्थानीय थाना क्षेत्र के पडरौना गांव निवासी वा प्रतिभा इंडियन गैस एजेंसी के मालिक कमलेश सिंह ने 20 दिसंबर दोपहर 2:00 बजे भोरे थाने में 10 लाख रुपए रंगदारी मांगने का एक मामला दर्ज कराया था, दिए गए शिकायत पत्र में गैस एजेंसी मालिक के द्वारा इस बात का जिक्र किया था की रंगदारी नहीं देने पर बदमाशों ने उन्हें जान से मारने की धमकी भी दी है, गैस एजेंसी मालिक से रंगदारी मांगने का मामला सामने आने के बाद उस समय पुलिस के भी नींद कुछ पल के लिए उड़ गए थे.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
a1
ads
WhatsApp Image 2020-11-09 at 10.34.22 PM
Webp.net-compress-image
a2

बरहाल पुलिस ने गैस एजेंसी मालिक के दिए गए शिकायत पत्र पर प्राथमिकी दर्ज करते हुए अग्रिम कार्रवाई शुरू कर दी, गैस एजेंसी से मांगे गए रंगदारी के मामले को देखते हुए, गोपालगंज पुलिस अधीक्षक मनोज तिवारी ने इसे गंभीरता से लिया और तकनीकी सेल के सहयोग से इस कांड के उद्भेदन और अनुसंधान के लिए पुलिस अधीक्षक ने हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया गया, एसपी द्वारा गठित की गई टीम में मीरगंज इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार, भोरे थाना अध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह, उचकागांव थानाअध्यक्ष किरण शंकर, मीरगंज थाना अध्यक्ष शशि रंजन प्रसाद, एसआई राकेश कुमार शर्मा प्रशिक्षित दरोगा विनीत विनायक मुकेश,ने इस कांड में अपनी अनुसंधान तेज कर दी। वही वैज्ञानिक तकनीकी और अनुसंधान के सहयोग से पुलिस ने उचकागांव थाना क्षेत्र के खान बैरिया गांव में छापेमारी करते हुए इस कांड में संलिप्त नसरुद्दीन अली के पुत्र शाहबाज अली को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

शाहबाद से पुलिस ने पूछताछ के बाद बड़े खुलासे सामने आए, शाहबाज ने पुलिस को बताया कि उसके मित्र नादिर इम्तियाज ने उससे यह कह कर सिम ली थी कि किसी व्यक्ति को बॉडीगार्ड दिलाने वास्ते एक झूठा रंगदारी का फोन करना है,जिसमें एक सिम नंबर की मांग की गई है, उसकी व्यवस्था कर दो इस कारण मैंने अपने मित्र को यह सिम कार्ड दे दिया, कांड अनुसंधान में जुटी पुलिस ने फुलवरिया थाना क्षेत्र के संग्रामपुर गोपाल गांव में छापेमारी करते हुए शहबाज के दोस्त नादिर इम्तियाज को पुलिस ने हिरासत में ले लिया हिरासत में लेने के बाद जब पुलिस ने इस कांड को लेकर बात की तो शहबाज ने बताया कि कमलेश कुमार सिंह और हमारे पिताजी काफी गहरे मित्र हैं,और गैस एजेंसी मालिक हमारे घर बराबर आते हैं,उन्होंने हमें नवनिर्मित स्कूल में नौकरी दिलाने के लिए एक झूठा रंगदारी का फोन करने के लिए कहा था,उन्होंने यह भी कहा था कि इस फोन करने से तुम्हे नौकरी और हमें सरकारी गार्ड मुहैया हो जाएगा।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here