गोपालगंज: थाना की छत से युवती ने छलांग लगा की खुदकुशी की कोशिश

0

गोपालगंज: जिले के कटेया थाना पुलिस की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। कटेया थाना की पुलिस ने यूपी के ग्रेटर नोएडा से अपहृत की गई एक युवती को थाना क्षेत्र से बरामद कर थाना ले आई। इसी बीच युवती बाथरुम जाने के बहाने कटेया थाना भवन की छत पर चली गई तथा वहां से युवती ने नीचे छलांग लगा दी। इस घटना में गंभीर रूप से घायल युवती को पुलिस ने रेफरल अस्पताल कटेया में भर्ती कराया। जहां युवती की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया। इसी बीच युवती के पिता तथा नोएडा पुलिस के एक एसआई भी अस्पताल पहुंच गए। दोनों युवती को मेडिकल कॉलेज गोरखपुर में भर्ती कराने के लिए उसे लेकर चले गए। बताया जाता है कि कटेया थाना क्षेत्र के मझवलिया टोला टांड निवासी स्वर्गीय मुस्तकीम का पुत्र क्यामुद्दीन यूपी के ग्रेटर नोएडा के किसी कंपनी में काम करता है। वहीं उसका एक युवती से प्रेम प्रसंग हो गया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

इसी बीच तीन दिसंबर को क्यामुद्दीन ने शादी की नियत से युवती का अपहरण कर उसे लेकर अपने गांव मझवलिया टोला टांड लेकर चला आया। युवती के गायब होने के बाद उसके परिजनों ने उसकी खोजबीन शुरू किया। लेकिन युवती का पता नहीं चलने पर युवती के पिता ने ग्रेटर नोएडा थाने में अपनी बेटी का अपहरण करने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराई। गुरुवार को ग्रेटर नोएडा पुलिस की सूचना के आधार पर कटेया थाना पुलिस ने थाना क्षेत्र के मझवलिया टोला टांड गांव में छापेमारी कर अपहृत युवती को बरामद कर लिया। हालांकि युवक फरार हो गया। युवती को बरामद करने के बाद पुलिस उसे थाना ले आई। थाना लाने के कुछ देर बाद युवती ने बाथरुम जाने की बात महिला चौकीदार से कही।

महिला चौकीदार उसे बाथरुम ले गई। इसी बीच युवती महिला चौकीदार को चकमा देकर थाना भवन की छत पर चली गई तथा छत से नीचे छलांग लगा दिया। जिससे युवती गंभीर रूप से घायल हो गई। युवती के छलांग लगाते हुए पूरे थाना परिसर में अफरा तफरी मच गई। आनन फानन में पुलिस ने युवती को रेफरल अस्पताल कटेया में भर्ती कराया। जहां युवती की हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने उसे मेडिकल कॉलेज गोरखपुर रेफर कर दिया। इसी बीच युवती के पिता तथा ग्रेटर नोएडा थाने के एसआइ रणवीर सिंह भी वहां पहुंच गए। पिता व एसआइ युवती को लेकर मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के लिए रवाना हो गए।