गोरेयाकोठी: सड़क हादसे में बाइक सवार युवक की मौत

0
Dead Body
  • स्थानीय लोग दौड़कर घटनास्थल पर पहुंचते, टक्कर मारने वाला मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया
  • रक्षा बंधन के दिन पत्नी के साथ आया था ससुराल
  • गिरने के बाद उसने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के लद्धी बाजार पर ग्रामीण बैंक के सामने बुधवार की सुबह दो बाइक की टक्कर में एक युवक की मौत हो गयी। मृतक रघुनाथपुर थाना के नेवारी का 22 वर्षीय राजन कुमार था। वह रक्षा बंधन के दिन अपनी पत्नी को लेकर अपने ससुराल जामो थाना के सुल्तानपुर आया था। बताया जाता है कि सुबह वह किसी काम से लद्धी बाजार आया था, तभी अज्ञात बाइक चालक ने उसे टक्कर मार दी। जिससे गिरने के बाद उसने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया। जबतक स्थानीय लोग दौड़कर घटनास्थल पर पहुंचते, टक्कर मारने वाला मौके का फायदा उठाकर फरार हो गया। लोगों ने इसकी सूचना गोरेयाकोठी थाने को दी। सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष मुकेश कुमार ने पहुंचकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सीवान भेजवा दिया। पुलिस ने स्थानीय लोगों से जानकारी लेने की कोशिश की।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

चार माह पूर्व हुई थी शादी

रघुनाथपुर थाना क्षेत्र के नेवारी निवासी मृतक राजन कुमार की शादी चार माह पहले जामो थाना के सुल्तानपुर निवासी रामानंद राम की पुत्री तारा कुमारी से हुई थी। वह अपनी पत्नी तारा कुमारी को लेकर ससुराल रक्षाबंधन के अवसर पर आया था। उसकी पत्नी अपने भाई के हाथ में राखी बांधने आई थी। लेकिन किसी को क्या पता था कि उसकी मौत उसे ससुराल खींच लाई थी। चार माह पूर्व जिस इलाके में सेहरा बांध कर आया था आज वहीं से अर्थी पर सवार होकर उस जगह चला गया। जहां से कभी वापस नहीं आ सकता है।

ससुराल व घर में मचा कोहराम

सड़क हादसे में राजन की मौत की सूचना के बाद उसके ससुराल व घर पर कोहराम मच गया। उसके ससुराल में रूदन, क्रंदन व बेहोशी का आलम था। पत्नी तारा कुमारी का रोते-रोते बेहोश हो जाती थी। वहीं घर वालों को सूचना मिलते ही सारे निकट संबंधी सदर अस्पताल में पहुंच गए। परिजनों के चीत्कार से सबकी आंखें नम हो जा रही थीं। घटनास्थल पर पूर्व मुखिया मुख्तार यादव, तारकेश्वर यादव, परशुराम प्रसाद, मो. जाकिर हुसैन ने मृतक की पत्नी को सरकार से अविलंब मुआवजे की राशि भुगतान करने की मांग की ताकि बेसहारा हुई पत्नी को कुछ आर्थिक सहारा मिल सके।