गोरेयाकोठी: एकता व भाईचारे का प्रतीक पांचो पीर के मजार पर हुई चादरपोशी

0

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के गोरेयाकोठी प्रखंड के सरारी गांव के पांचों पीर साहब के मज़ार पर सोमवार को चादरपोशी की. बताया है कि सदियों से यह मजार हिन्दू-मुस्लिम एकता का प्रतीक माना जाता है. सोमवार को सरारी के एक हिंदू परिवार ने अजमेर शरीफ से मंगवायी गयीं चादर से पांचों पीर साहब के मजार पर चादरपोशी कर हिन्दू-मुस्लिम एकता का मिसाल पेश किया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

बताया जाता है कि सरारी के सुरेश श्रीवास्तव द्वारा चादरपोशी का काम गत 12 बर्षों से किया जाता है. इसमे सरारी व आस-पास के सभी हिन्दू-मुस्लिम समुदाय के लोगों बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया. वहां मौजूद सभी लोगों को प्रसाद के रूप में भोजन का  प्रबंध सुरेश श्रीवास्तव  द्वारा प्रत्येक वर्ष किया जाता है. इस मौके परपूरे गांव में खुशी का माहौल बना हुआ है. लोग ढोल-तासे के साथ इस कार्यकर्म में शामिल हुए.