6 वर्षों में सरकार ने पति को शहीद घोषित नहीं कर सकी: प्रियंका

0

इसुआपुर के शहीद दरोगा की 6 वी पुण्यतिथि पर याद किये गए संजय

छपरा: इसुआपुर के शहीद दरोगा संजय तिवारी की 6 वी पुण्यतिथि आज , सादे समारोह में प्रखंड के गणमान्य लोग थाना परिसर में लगे प्रतिमा पर मालार्पण कर शाहिद दरोगा को श्रधंजलि दिया, श्रधंजलि देने वालो में शहीद की पत्नी प्रियंका, पुत्र आयुष, स्थानीय नवल ओझा, श्याम प्रसाद जी, बिपिन मिश्रा, राकेश कुमार सिंह के साथ बड़े पैमाने पर स्थानीय गनमनान्य लोग उपस्थित रहे ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

सारण पुलिस के जांबाज जवान संजय कुमार तिवारी मूल रूप से नालन्दा जिले के लहेरी थाना के रहने वाले 2009 बैच के सब इंस्पेकर थे इसुआपुर के 22 वे थानाध्यक्ष के रूप में 12 जून 14 को संजय कुमार तिवारी ने अपना योगदान दिया था। 22 दिसम्बर 14  को बैंक लूट की घटना कोअंजाम देने आये अपराधियो से शामकौड़िया के निकट जब उनका सामना हुआ तो अपराधियो ने ताबड़ तोर फायरिंग कर उन्हें जख्मी कर दिया और इलाज के क्रम में उनकी मौत छपरा सदर अस्पताल में हो गयी। इस मामले में राज्य सरकार ने शहीद के पत्नी प्रियंका को सारण पुलिस बल में नौकरी तो दी परन्तु अब तक उन्हें शाहिद का दर्जा नही मिल सका जिसका गम उन्हें आज भी है।

प्रियंका सारण पुलिस बल में सिपाही के पद पर कार्यरत है

इसुआपुर साथी पुलिसकर्मियो के मदद से स्थानीय एनयूजे (आई) के  लोगो ने संजय के शहादत को याद करते हुए इसुआपुर थाना परिसर में शहीद के प्रतिमा का निर्माण कराया गया जो सम्भवतः बिहार में पहला है, पर अब तक बिभाग ने संजय के परिजनों की सुधि नही ली, जिससे पुलिस बिभाग के प्रति लोगो मे क्षोभ है.