अवैध खनन मामले में निलंबित दोनों IPS की निलंबन की अवधि को सरकार ने बढ़ाया

0

पटना: अवैध खनन मामले में निलंबित चल रहे भोजपुर के पूर्व एसपी राकेश कुमार दुबे और औरंगाबाद के एसपी रहे आईपीएस सुधीर कुमार पोरिका के निलंबन की अवधि का सरकार ने विस्तारित कर दिुया है।सरकार ने इन दोनों अफसरों को अगले साल 22 जनवरी 2022 तक के लिये सस्पेंड कर दिया है. बिहार गृह विभाग के आरक्षी शाखा की ओर से अधिसूचना जारी कर इसकी जानकारी दी गई है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

सरकार की ओर से मिली जानकारी के अनुसार बालू के अवैध उत्खनन, भण्डारण और परिवहन में अपने दायित्वों का निर्वहन नहीं करने, इसमें शामिल माफियाओं को मदद पहुंचाने, अवैध उत्खनन, और अपने अधीनस्थ पदाधिकारियों पर प्रभावी नियंत्रण नहीं रखने समेत गंभीर आरोपों को देखते हुए सरकार ने 2010 बैच के IPS अधिकारी सुधीर कुमार पोरिका और नवप्रोन्नत IPS अधिकारी राकेश कुमार दुबे को तत्काल प्रभाव से 27 जुलाई से 24 सितंबर तक 60 दिनों के लिए निलंबित किया गया।

इन अधिकारियों से तमाम आरोपों को लेकर जवाब मांगा गया था लेकिन इन दोनों अफसरों ने ऐसा नहीं किया. राकेश कुमार दुबे और सुधीर कुमार पोरिका ने लिखित अभिकथन या बचाव बयान डिपार्टमेंट को नहीं दिया. ऐसी स्थिति में इन दोनों अफसरों के निलंबन को बनाये रखने को विचार किया गया और विचारोपरांत इनके निलंबन अवधि को 24 सितंबर से 120 दिनों तक बढा दिया गया. अब इन्हें अगले साल जनवरी महीने में २२ तारीख तक सस्पेंड कर दिया गया है. निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ता देय होगा।