भूमि विवाद में गुप्ती गोदकर हत्या, आरोपी फरार

0
maut

परवेज़ अख्तर/सिवान :- जिले के सिसवन थाने के चैनपुर ओपी क्षेत्र के चैनपुर बाजार में सोमवार की देर शाम करीब 7:30 बजे दो पटीदारों के बीच पुर्व से चली आ रही भूमि विवाद में गुप्ती से गोदकर एक युवक की हत्या करने का मामला सामने आया है।जबकि एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया।मृत युवक चैनपुर बाजार निवासी विनय कुमार साह का पुत्र विक्रम साह (24) हैं।विवाद में मृतक का बड़ा भाई विकास कुमार साह गंभीर रूप से घायल है।विकास को भी गुप्ती से गोद कर घायल किया गया है।घटना के बाद आनन फानन में स्थानीय लोगों के सहयोग से सभी को एक नीजी क्लिनिक मे ले जाया गया। जहां चिकित्सक ने दोनों की गंभीर स्थिति को देखते हुए सिवान रेफर कर दिया।इलाज के लिए सदर अस्पताल में ले जाने के दौरान रास्ते में ही विक्रम कि मौत हो गई।और मृतक के भाई का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है।घटना की सूचना पाकर चैनपुर ओपी प्रभारी राकेश कुमार दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच कर कार्यवाई मे जुट गए।

goli se htya

घटना के संबंध में मृतक के भाई विकास कुमार साह से मिली जानकारी के अनुसार विक्रम साह चैनपुर बाजार स्थित अपने घर के आगे सब्जी की दुकान लगाकर परिवार की रोजी रोटी चलाता था।रोज की तरह उसने सोमवार को भी दुकान लगाया।देर शाम उसके पटीदार श्यामा साह का पुत्र सोनू साह किसी बात को लेकर विक्रम के साथ गाली गलौज करने लगा।देखते देखते दोनों में विवाद काफी बढ़ गया।तभी सोनू के पिता श्यामा साह विक्रम को मारने लगे मारपीट और शोर गुल सुनकर वह घर से बाहर आया और देखा कि उसके भाई को उसके पटीदार मारपीट रहे है इसी बीच सोनू साह घर गया और घर में रखा गुप्ती लेकर आया और विक्रम के पेट में गोद दिया जिससे वह वहीं गिर पड़ा उसके बाद उसने विकास के पेट में भी गुप्ती से दो जगह गोद दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया।उसके बाद श्यामा साह और उसका पुत्र सोनू साह फरार हो गए।स्थानीय लोगों के सहयोग से दोनों को इलाज के लिए चैनपुर स्थित एक नीजी क्लीनिक मे ले जाया गया जहां चिकित्सक ने गंभीर हालत को देखते हुए सिवान रेफर कर दिया।इलाज के दौरान सिवान ले जाने के क्रम में ही मधवापुर के समीप विक्रम कि मौत हो गई।मौत के बाद शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया गया।

बीए प्रथम वर्ष का छात्र था विक्रम

विक्रम चार भाई बहनों मे दुसरे नंबर पर था।घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होने के कारण वह सब्जी बेंचकर घर परिवार चलाता था तथा अपनी पढ़ाई का खर्च भी निकालता था।वह पढ़ने में काफी होशियार था विक्रम ने इसी वर्ष इग्नू से प्रथम वर्ष की परीक्षा दी थी और रिजल्ट के इंतजार में था।

परिजनों का रो रो कर बुरा हाल

विक्रम कि मौत के बाद परिजनों का रो रो कर बुरा हाल है।विक्रम कि दोनों बहनें विनीता देवी एवं विभा कुमारी का तो रो रो कर बुरा हाल है।दोनों बहनें रो रो कर बार बार यही कहती हैं कि रक्षाबंधन के अब हम केकरा के राखी बांधेम हो कहकर रोते रोते बेहोश हो जा रही हैं वहीं विक्रम का बड़ा भाई विकास कुमार साह अपने भाई के लिए बिलख बिलख कर रो रो कर कह रहा है कि मेरा सारा सपना चकनाचूर हो गया मै अपने भाई को पढ़ा लिखाकर एक अच्छा नौकरी करते देखना चाहता था।वहीं मृतक की मां विजांती देवी के मुह से आवाज नहीं निकल पा रही हैं।विक्रम कि मौत के बाद पुरे परिवार में कोहराम मचा हुआ है।goli mar htya

मृतक के भाई के फर्दबयान पर प्राथमिकी दर्ज, सात नामजद

मृतक के भाई विकास कुमार साह के फर्दबयान पर सात लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है।आरोपियों में चैनपुर बाजार निवासी व पटीदार श्यामा साह, एवं उसके तीनों पुत्र सोनू साह,शशि साह ,सूरज साह एवं ठाकुर साह के पुत्र कन्हैया साह, ओमप्रकाश साह, परमप्रकाश साह, शामिल है।घटना के बाद से सभी आरोपी घर छोड़कर फरार है।