हाजीपुर: बाढ़ के पानी में डूबने से किशोर समेत दो बच्चों की मौत

0
nadi me duba

हाजीपुर: बाढ़ग्रस्त इलाकों में बच्चों और युवकों के डूबने का सिलसिला थम नहीं रहा है। सोमवार की शाम और मंगलवार की सुबह अलग-अलग हादसों में डूबने से जिले में एक किशोर समेत दो बच्चों की मौत हो गई। वहीं सोनपुर में डूबने से एक युवक की मौत हो गई। राघोपुर प्रखंड के रुस्तमपुर ओपी क्षेत्र के बहरामपुर पंचायत में सोमवार की शाम में आठ वर्षीय एक लड़की की डूबने से मौत हो गई। वहीं दूसरी ओर बिदुपुर के जुड़ावनपुर गोपालपुर घाट के निकट मंगलवार को स्नान करने के दौरान चचेरे दो भाई बहन बह गए। स्थानीय लोगो ने गुंजन कुमारी को डूबने से बचा लिया, लेकिन 13 वर्षीय चन्दन को नहीं बचाया जा सका। स्थानीय लोगों एवं गोताखोरों ने काफी मशक्कत के बाद मृतक का शव निकाला।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 7.27.12 PM
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

घटना के संबंध में बताया जाता है कि नंदु कुमारी के दरवाजे पर बाढ़ का पानी चढ़ा था। वह जैसे ही दरवाजे से बाहर निकली कि उसी दौरान पैर फिसल जाने के कारण वह गहरे पानी में चली गई और डूब गई। राघोपुर में मृत नंदु कुमारी बहरामपुर पंचायत निवासी जय राय की पुत्री थी। स्थानीय गोताखोरों की सहायता से घंटों मशक्कत के बाद लड़की के शव को ढूंढकर निकाला गया। पंचायत की मुखिया शकुंतला देवी एवं सरपंच पति संजय कुमार यादव ने इसकी सूचना स्थानीय थाने को दे दी है। सूचना मिलते ही रुस्तमपुर ओपी थानाध्यक्ष शुभ नारायण प्रसाद यादव सशस्त्र पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया तथा पोस्टमार्टम कराने के लिए सदर अस्पताल हाजीपुर भेज दिया।

बिदुपुर में 13 वर्षीय चन्दन, पिता रणजीत मांझी के का शव काफी मशक्कत के बाद निकाला गया। घटना की सूचना पर उसके घर में कोहराम मच गया। मृत बालक मुस्तफापुर का निवासी बताया गया है। गंगा नदी किनारे काफी संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई। जाप जिलाध्यक्ष डॉ पप्पू ने मृतक के परिजनों को सांत्वना दिया। वहीं शव के खोज करने में भी स्थानीय नाविकों एवं युवाओं का लगाया गया। गंगा नदी में डूबने वाले चचेरे भाई-बहन थे। गंगा नदी का जलस्तर बढ़ जाने के कारण काफी किनारे में गढ्ढे में जल जमाव पूरे क्षेत्र में हो जाने के कारण आम लोगों को काफी परेशानी हो रही है। घटना पूर्व उप मुखिया वीरेंद्र सिंह के घर के सामने घटी। शुरू में परिजनों ने शव का पोस्टमार्टम कराने से इंकार कर दिया। बाद में जाप जिलाध्यक्ष डॉ पप्पू एवं स्थानीय लोगों के समझाने-बुझाने पर परिजन शव को पोस्टमार्टम कराने को तैयार हुए। घटना से पूरे गांव में शोक की लहर फैल गई। वहीं स्थानीय प्रशासन को सूचना दिए जाने के बाद भी शव की खोज के लिए एसडीआरएफ नहीं भेजे जाने की शिकायत लोगों ने की।

राघोपुर में डूबने से अबतक 6 की मौत

मालूम हो कि बाढ़ ग्रस्त राघोपुर प्रखंड के विभिन्न पंचायतों में अभी तक 6 लोगों की बाढ़ के पानी में डूबने से मृत्यु हो गई है। 8 अगस्त को राघोपुर पूर्वी पंचायत हजपुरवा में नागदेव राय, 13 अगस्त को बहरामपुर मदहा गांव में मां पनमा देवी और बेटी रीता कुमारी, 14 अगस्त को पहाड़पुर पश्चिमी पंचायत में अमीन राय की पुत्री चुलबुल कुमारी और मोहनपुर पंचायत में मिथुन राय की 3 वर्षीय पुत्री दिलखुश कुमारी तथा 15 अगस्त को चांदपुरा पंचायत में सुहाग महतो के पुत्र राजू कुमार की बाढ़ के पानी में डूबने से मौत हो गयी।