निजी अस्पताल में गर्भवती की मौत के बाद हंगामा

0
perdarsan

परवेज अख्तर/सिवान : गौशाला रोड़ स्थिति डॉ आर शंकर के निजी अस्पताल में सोमवार की रात एक गर्भवती महिला की मौत के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। मृतका जामो बाजार थाना क्षेत्र के हरिहरपुला काला निवासी अखिलेश्वर पंडित की पत्नी सोनी देवी(22) है। बताया जा रहा है कि तबीयत खराब होने पर तीन दिन पहले सोनी को उसके परिजन डॉक्टर आर शंकर के पास दिखाने लेकर आए। डॉक्टर ने महिला को इलाज के लिए अपने अस्पताल में भर्ती कर लिया। इस दौरान महिला का इलाज चलने लगा। बताया जा रहा है कि महिला की स्थिति में सुधार हो रहा था। इसी बीच सोमवार की रात डॉक्टर के अप्रशिक्षित स्टॉफ ने महिला को गलत सूई दे दी। जिससे महिला की बेचैनी बढ़ने लगी। इसके साथ ही उससे उलटियां होने लगी। हालत बिगड़ने के बाद स्टॉफ ने मामले की जानकारी डॉक्टर को दी। डॉक्टर जब मरीज को देखने पहुंचे तब तक महिला की स्थिति नाजुक हो चुकी थी। बताया जा रहा है कि इस दौरान डॉक्टर ने महिला को अपने अस्पताल से रेफर करने की कोशिश की। लेकिन, उन्हें इतना समय नहीं मिला। कुछ ही देर बाद महिला की मौत हो गई। इस संबंध में महिला के पति अखिलेश्वर पंडित ने बताया कि सोनी की स्थिति बिगड़ने के बाद जब डॉक्टर उसे देखने पहुंचे तो उन्होंने गलत सुई देने की बात कहते हुए स्टॉफ को फटकार लगायी। इस संबंध के परिजनों ने डॉक्टर व उसके स्टॉफ पर लापरवाही का आरोप लगाया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

हंगामे की जानकारी पर पहुंची पुलिस

इधर अस्पताल में हंगामा की जानकारी मिलते ही महादेवा ओपी व टाउन थाने की पुलिस डॉक्टर आर शंकर के क्लीनिक पर पहुंची। पुलिस ने मामले को शांत कराया। वहीं मामले की जानकारी मिलते ही आसपास के कई डॉक्टर मौके पर पहुंच मामले को मैनेज करने में जुट गए। लेकिन, परिजन डॉक्टर के स्टॉफ की लापरवाही के मुद्दे पर अड़े रहे। इसी बीच गोरेयाकोठी के प्रमुख प्रतिनिधि अशोक कुमार सिंह भी मौके पर पहुंचे। मृतका अशोक कुमार सिंह के गांव की रहने वाली थी। उन्होंने परिजनों को समझा बुझाकर मामले को शांत कराया। इसके बाद परिजन शव को लेकर चले गए। बताया जा रहा है कि मृतका 8 महीने की गर्भवती थी। उसे पहले से एक पुत्र है। पति गुजरात अखिलेश्वर में मजदूरी करते हैं। फिलहाल पत्नी की तबीयत खराब होने की खबर सुन कर घर आए थे।

बिना इमरजेंसी सुविधा के भर्ती करते हैं मरीज

डॉक्टर आर शंकर के निजी अस्पताल में महिला की मौत के बाद उसकी अस्पताल की व्यवस्था पर सवाल खड़े होने लगे हैं। मरीजों का आरोप है कि दो कमरों में कई मरीजों को अटाया जाता है। इतना ही नहीं सरकारी मांपदंड़ो का पालन किए बिना क्लीनिक में ही मरीजों को भर्ती किया जाता है।

क्या कहते हैं डाक्टर

डॉक्टर आर शंकर ने कहा कि रुपए के लिए विवाद हुआ था। इसके साथ ही उन्होंने अस्पताल में मौत की बात से इंकार किया।

क्या कहते हैं सिविल सर्जन

सिविल सर्जन डॉ शिवचंद्र झा ने कहा कि अवैध क्लीनिक व नर्सिंग होम पर कार्रवाई के लिए लिस्ट तैयार किए जा रहे हैं। कहा कि मामले की शिकायत मिलने पर जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।