सीवान में होम क्वॉरेंटाइन के शर्त पर छोड़ें गए लोगों की मनमानी, निर्देशों की धज्जियां उड़ा कर घूम रहे बाहर

0
social distance

बढ़ी ग्रामीणों की चिंता, नहीं मान रहे बात

परवेज अख्तर/सिवान:- खतरनाक कोरोनावायरस से बचाव को लेकर एक तरफ सरकार हर संभव कदम उठाने को तैयार है हर स्तर से लोगों को सुरक्षित करने की कवायद जारी है शासन-प्रशासन किसी भी तरह से कोई ऐसी चूक नहीं करना चाहता जिससे कि आम जनों की जान संकट में पडे और जानलेवा करोना उन जगहों तक पहुंचे जहां फिलहाल स्थिति सामान्य बनी हुई है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों द्वारा वर्तमान की हालतों से भलीभांति अवगत होने के बावजूद शासन प्रशासन द्वारा जारी निर्देशों एवं अलग-अलग बिंदुओं पर तय शर्तों की अवहेलना करते हुए अब तक सुरक्षित बचे इलाकों में रहने वाले लोगों की जान खतरे में डालने से जुड़ी बड़ी मनमानी की जा रही है ।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

हालांकि ऐसे लोगों को इस बात की जानकारी अच्छी तरह है कि इनकी यह लापरवाही इनके स्वयं की जान पर तो भारी पड़ ही सकती है साथ-साथ इलाके में रहने वाले दर्जनों सैकड़ों मासूमों नौजवानों और बुजुर्गों की जिंदगी जोखिम में डाल सकती है । दरअसल मामला होम क्वॉरेंटाइन के शर्त पर घर भेजे गए लोगों की लापरवाही और मनमानी से संबंधित है बताते चलें कि सरकार द्वारा हाल ही में 18 शहरों को चिन्हित कर एक बड़ा फैसला लिया गया था कि उपरोक्त चिन्हित शहरों से आने वाले लोगों को ही क्वॉरेंटाइन सेंटरों में रखा जाएगा इसके अतिरिक्त दूसरे शहरों से पहुंचने वाले प्रवासी मजदूरों को तय शर्तों के आधार पर होम क्वॉरेंटाइन के लिए घर भेज दिया जाएगा ।

इस प्रकार से घर भेजे गए प्रवासी मजदूरों को घर में रहते हुए आधिकारिक निर्देशों और सरकार द्वारा तय शर्तों का अनुपालन करने संबंधित सख्त निर्देश जारी है प्रखंड में उपरोक्त सरकारी निर्देशानुसार दर्जनों लोगों को होम क्वॉरेंटाइन के शर्त पर छोड़ा गया है लेकिन लगातार ग्रामीण इलाकों से इस प्रकार की खबरें मिल रही है कि होम क्वॉरेंटाइन के लिए घर भेजे गए लोगों द्वारा शर्तों की धज्जियां उड़ाते हुए घर से बाहर निकल इलाके में सरेआम भ्रमण करते हुए लोगों के संपर्क में जाने का प्रयास किया जा रहा है जो बेहद चिंतनीय है ।

इस प्रकार की मनमानी और लापरवाही से इलाके में रहने वाले लोगों की बेचैनी बढ़ी हुई है बाहर घूमने वालों को बुद्धिजीवियों द्वारा समझाया बुझाया भी जा रहा है मगर गलतीयों और लापरवाहीयों पर सुधारात्मक पहल कोसों दूर, नतीजा अब संबंधित इलाके में रहने वाले लोगों की नींद उड़ी हुई है उन्हें इस बात की चिंता सता रही है कि यदि गांव में लापरवाहीयों के बीच महामारी ने पांव पसारा तो अंजाम बुरा साबित हो सकता है सिसवन संवाददाता से मिली जानकारी के अनुसार चैनपुर ओपी थाना क्षेत्र के कचनार, भागर, सिसवन,चैनपुर, ग्यासपुर सहित में दर्जनों गावों मे रह रहे हजारों प्रवासी मजदूर विभिन्न राज्यों से अपने-अपने घर पहुंचे हैं।

यह मजदूर होम क्वारंटाइन का पालन नहीं कर रहे हैं। यह मजदूर खुलेआम बाहर घूम रहे है। बाजार से खरीददारी भी कर रहे हैं। प्रवासी मजदूरों के खुलेआम बाहर घूमने से आस पास के लोग भयभीत हैं।सिओ इंद्रवंश राय ने बताया कि होमक्वारंटाइन मे रह रहे प्रवासियों के खुलेआम घुमने कि सूचना मिली है इसकी गोपनीय तरीक़े से जांच की जाएगी और अगर ऐसा करते कोई पाया जाता है तो उसपर कड़ी कार्यवाई कि जाएगी।