एक दिवसीय भूख हड़ताल पर रहीं आशा कार्यकर्ता

0
asha ka hadtal

परवेज अख्तर/सिवान : 12 सूत्री मांगों को लेकर बुधवार को आशा कार्यकर्ताओं ने सदर अस्पताल परिसर में अनिश्चितकालीन हड़ताल के तहत एक दिवसीय भुख हड़ताल रखा। इसके बाद आशा कार्यकर्ता ने सीएस कार्यालय में ताला बंदी की। संघ के नेताओं ने स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय के खिलाफ नारेबाजी की। मालती राम ने बताया कि बिहार राज्य आशा कार्यकर्ता संघ द्वारा अपनी 12 सूत्री मांगों के साथ एक दिसंबर 2018 से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर हैं और सरकार चुप्पी साधे हुए है। मालती राम ने बताया कि सीएस के कार्यालय में तालाबंदी कर दी गई है। गुरूवार को बैठक कर ताला खोला जाएगा। बिहार सरकार आशा कर्मियों से वार्ता नहीं कर हमे आंदोलन करने के लिए मजबूर कर रही है। इससे साफ पता चल रहा है कि सरकार द्वारा महिला सशक्तीकरण को कैसे झूठा साबित करने में यह सरकार लगी है। केंद्र में भाजपा के सरकार और बिहार में जदयू के सरकार है दोनों महिलाओं के ठगने में लगी है। मौके पर सुनिता देवी, उषा पटेल, सूर्यावती देवी, शांति देवी, मंजू देवी, सुनैना देवी, उषा पांडेय, मुनी देवी, पिंकी देवी, सरिता देवी, आदि कार्यकर्ता मौजूद थीं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal