विधानसभा परिसर में शराब की बोतल मिलने पर सदन में भारी हंगामा : तेजस्वी के आरोप पर मुख्यमंत्री का फूटा गुस्सा…कहा- हम यह बर्दाश्त नहीं करेंगे….स्पीकर आदेश दें..जांच होगी कि शराब की बोतल विस परिसर में कैसे आई…

0

पटना: बिहार विधानसभा में भोजनावकाश के बाद विस परिसर में शराब की खाली बोतल मिलने का मसला उठा। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि इससे अधिक शर्म की बात क्या हो सकती है कि विधानसभा में शराब की बोतलें मिल रही। इस पर विस अध्यक्ष विजय सिन्हा ने कहा कि विधानसभा में? यहां तो हमलोग बैठे हुए हैं। इस पर तेजस्वी ने कहा कि विस परिसर में खाली बोतलें मिली है। विपक्ष लगातार सीएम नीतीश से जवाब चाह रहा था। इसी बीच मुख्यमंत्री भी सदन में आये और कहा कि हमें इसकी जानकारी नहीं थी। शराब की बोतल विस परिसर में मिले इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

बिहार विधानसभा में सीएम नीतीश ने कहा कि हमें जानकारी नहीं थी कि विस परिसर में शराब की बोतलें मिली है। हमने पूछा तो बताया गया। यह बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है कि कहीं शराब की बोतलें मिले। विस परिसर में शराब की बोतलें कैसे आई इसकी पूरी जांच होगी। अध्यक्ष इसका परमिशन दें। यहां पर डीजीपी और मुख्यचिव हैं और जांच होगी। कोई कैसे शराब पी सकता है, चाहे यहां रहने वाले लोग ही क्यों न हों। हम यह बर्दाश्त नहीं कर सकते।

विधानसभा अध्यक्ष तुरंत इस मामले में इजाजत दें वह जांच कराने के लिए तैयार हैं। अभी तुरंत विभाग के प्रिंसिपल सेक्रेटरी से लेकर डीजीपी और होम सेक्रेट्री सभी को निर्देश दिया जाएगा कि दोषी के ऊपर तुरंत एक्शन लिया जाएगा। बता दें कि इस मामले को लेकर आज सदन में तेजस्वी यादव और नीतीश कुमार के बीच तीखी बहस हुई। जिसके बाद तेजसवी जमकर गरजने लगे। जिसके जवाब में नीतीश कुमार का भी गुस्सा फूट पड़ा।

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को शायद मेरा स्वभाव नहीं पता है, जो भी पत्र लिखना है वह सीधे मुझे लिखें. समाचार मीडिया या सोशल मीडिया में आने के बाद हम उसका नोटिस नहीं लेते। वहीं मामले के सदन के अंदर खुलने के बाद विधानसभा अध्यक्ष ने इस मामले पर कार्रवाई का आदेश दिया। अध्यक्ष ने कहा कि सरकार इस मामले की जांच कराए और जो भी दोषी पाए जाते हैं, उनपर कार्रवाई की जाए।

तेजस्वी यादव ने कहा कि आखिर यहां शराब की बोतलें कहां से मिल रही? शराबबंदी पूरी तरह से फेल है। ऐसे में मुख्यमंत्री को इस्तीफा करना चाहिए। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि आप विधानसभा की सुरक्षा को और कड़ा करवाना चाहते हैं? कल से ऐसा ही होगा….कल से सुरक्षा और कड़ी रहेगी। अध्यक्ष ने संसदीय कार्य मंत्री को सरकार की तरफ से जवाब देने को कहा। मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि यह एरिया विस अध्यक्ष के जिम्मे है। आप स्वतंत्र हैं सरकार इसमें सहयोग करेगी और दोषियों को कार्रवाई करेगी। मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष को जानकारी है तो सबूत के साथ फोन नंबर पर जानकारी दें,सरकार उस पर कार्रवाई करेगी।