हुसैनगंज: हत्या मामले में छह के खिलाफ दर्ज कराई एफआईआर

0
  • पत्नी व उसके प्रेमी सहित अन्य हुए आरोपित
  • कोर्ट के आदेश पर दर्ज की गई एफआईआर

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के पैगम्बरपुर निवासी संगीता देवी ने सीजेएम न्यायालय में परिवाद दाखिल कर पुत्र पर जानलेवा हमले के बाद हत्या मामले में न्याय की गुहार लगाई है। उन्होंने परिवाद पत्र में आरोप लगाया है कि उनके पुत्र सोनू कुमार सिंह की पत्नी रानी सिंह ने अपने प्रेमी व उसके सहयोगियों संग मिलकर इसी साल 23 जून को जानलेवा हमला कर दिया। इलाज के दौरान 27 जून 2021 को सोनू की मौत पीएमसीएच में हो गई थी। जिसकी सूचना स्थानीय थाना और वरीय पदाधिकारियों को दी गई। परन्तु थाने में प्राथमिकी दर्ज नहीं हो पाई थी। संगीता देवी ने आवेदन में बताया है कि रानी सिंह की शादी उनके पुत्र सोनू कुमार सिंह से हुई थी। जिससे उसको एक पुत्र व एक पुत्री है। परन्तु कुछ दिनों के बाद रानी का अवैध संबंध रिशु सिंह उर्फ छोटू सिंह से हो गया। काफी समझाने बुझाने के बाद भी रानी के व्यवहार में कोई बदलाव नहीं आया। आखिकार एक दिन वह रिशु सिंह के घर चली गई तब से उसी के घर रहती है। इधर सोनू ने तलाक की अर्जी कोर्ट में दायर कर दी तो विपक्षी मुकदमा उठाने का दबाव बनाने लगे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

इनकार करने पर जान से मारने की धमकी भी दिए थे। इसी बीच एक दिन नागेंद्र भगत किसी बहाने सोनू को बुलाकर ले गया तथा उसकी साथ हत्या की नीयत से बुरी तरह पिटाई की गई। जीबीनगर थाना के दीनदयालपुर हनुमान मंदिर के पास फेंक दिया गया। जहां से ग्रामीणों ने सदर अस्पताल भेजा। प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर ने पटना रेफर कर दिया। जहां 27 जून 21 को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। थानाध्यक्ष रामबालक यादव ने बताया कि आवेदन के आलोक में पैगम्बरपुर निवासी रानी सिंह, रिशु सिंह उर्फ छोटू सिंह, सत्येंद्र सिंह, आरती देवी, जुड़कन निवासी नागेंद्र भगत, मशरख थाना क्षेत्र के घवरी मदारपुर निवासी अयाज अंसारी के खिलाफ हत्या की प्राथमिकी दर्ज की गई है।