हुसैनगंज: बम ब्लास्ट का मुख्य आरोपी सगीर साई गिरफ्तार

0

थाना क्षेत्र के जुड़कन में रविवार को हुआ था बम ब्लास्ट

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के जुड़कन में रविवार को बम ब्लास्ट में पिता व पुत्र गंभीर रूप से घायल हो गये थे. वहीं उस कांड मुख्य आरोपी सगीर साई फरार हो गया था. पुलिस ने सोमवार को मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया. इस संबंध में बताया जाता है कि बम विस्फोट के बाद सगीर साई भी जख्मी हो गया था. वह अपना इलाज चोरी चुपके अन्यत्र अस्पताल में करा रहा था. पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार छापेमारी कर रही थी. सोमवार को पुलिस को पता चला कि सगीर चोरी छिपे अपना इलाज अस्पताल में करा रहा है. सूचना मिलते ही पुलिस सगीर साई को गिरफ्तार कर लिया और पूछताछ में जुट गई है. जबकि रविवार को ही बम विस्फोट के बाद  सगीर साई के घर से 3 महिलाओं को हुसैनगंज थाने की पुलिस पूछताछ के लिए अपने साथ थाने ले गयी थी.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.16.03 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.24.37 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.13.39 PM
WhatsApp Image 2022-08-14 at 9.18.57 PM

इस घटना के संबंध में बम विस्फोट में घायल विनोद मांझी के पिता परमा मांझी ने हुसैनगंज थाने में आवेदन देते हुए कहा है कि 20 जून को लगभग 12:30 बजे दिन में मेरा पुत्र विनोद मांझी उम्र 35 वर्ष अपने पुत्र सत्यम कुमार उम्र 2 वर्ष को लेकर जुड़कर मोड़ से अवधेश चौरसिया के दुकान से बिस्कुट खरीद कर घर आ रहा था. उसी दौरान रास्ते में मिठाई लाल के झोपड़ी के पास जैसे ही वह पहुंचा था कि वहां पर पहले से सगीर साई उम्र 60 वर्ष पिता स्व.खलील साई एक झोला लेकर खड़ा था . वह मेरे पुत्र विनोद को देखकर अपने पास बुलाया . उस समय वर्षा हो रही थी .उसके बुलाने पर विनोद अपने छोटे पुत्र सत्यम को लेकर झोपड़ी में चला गया. वहां सगीर साई अपने हाथ में रखा झोला मेरे पुत्र के तरफ बढ़ाते हुए बोला कि इससे रखिए मैं पेशाब करके आ रहा हूं.

मेरे पुत्र को यह मालूम नहीं था कि इस झूले में क्या रखा है. जैसे ही उसने झूला पकड़ा था तथा सगीर साई वहां से कुछ ही आगे बढ़ा था कि झूला में बहुत तेज धमाका हो गया. जो बम जैसा प्रतीत हो रहा था. धमाके में विनोद गंभीर रुप रूप से जख्मी हो गया और उसका पूरा शरीर झुलस गया .साथी उसका पुत्र सत्यम कुमार भी जख्मी हो गया. धमाके की आवाज सुनकर मेरे अलावे गांव के बहुत लोग वहां इकट्ठे हो गए . घायल अवस्था में दोनों को इलाज लिए सदर अस्पताल सिवान में भर्ती कराया गया .वहां पर प्राथमिक उपचार के बाद गंभीर स्थिति को देखते हुए विनोद को बेहतर इलाज के लिए पीएमसीएच पटना  रेफर कर दिया गया. जबकि सत्यम का इलाज सीवान अस्पताल में चल रहा है . इस संदर्भ में परमा मांझी ने कहा है कि हम लोग अनुसूचित जाति के अंतर्गत आते हैं अतः सगीर साई के विरुद्ध उचित कानूनी करवाई की जाए. आवेदन के आधार पर थानाध्यक्ष रामबालक यादव ने थाना कांड संख्या 143 / 21 दिनांक  21 जून को एससी/एसटी एक्ट तहत प्राथमिकी दर्ज कर लिया है.