लूटपाट के दौरान मारे गए युवक की हुई पहचान

0

परवेज़ अख्तर/सिवान :- 23 अप्रैल को जिस व्यक्ति की अपराधियों ने लूटपाट के दौरान गोली मारकर हत्या कर दी थी उसकी पहचान पुलिस ने कर दी है। मृतक रक्सौल के नवका टोला निवासी राजकुमार यादव बताया जाता है। मामले में एसपी नवीन चंद्र झा ने बताया कि पॉकेट से मिले टिकट के आधार पर जांच की जा रही थी। मामले के उद्भेदन के लिए टीम का गठन किया गया था। टीम रक्सौल गई थी। वहां सभी थानों में मृतक का फोटो भेजा गया था। इसके बाद संबंधित थाना से जानकारी मिलने के बाद फोटो का मिलान जब हुआ तो मृतक की पुष्टि हो सकी। एसपी ने बताया कि मृतक उक्त रात को अपने घर रक्सौल से गुठनी लौट रहा था। मृतक गुठनी स्थित एक आशिर्वाद नामक नन बैंकिंग में काम करता था। मृतक के परिजन संभवत शनिवार की देर रात तक पहुंच जाएंगे इसके बाद उनसे पूछताछ की जाएगी। तब इस मामले में जांच करने में आसानी होगी। एसपी ने बताया कि उसके पास से कुछ कपड़े बरामद हुए थे। जिन्हें टीम के साथ रक्सौल भेजा गया था। वहीं एसपी ने बताया कि इस मामले में पांच संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। लगभग मामला पूरी तरह से साफ हो चुका है। कांड के दिन से ही संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही थी जिससे मामले के तह में जाने में आसानी मिली। इस हत्याकांड में प्रयुक्त की गई पिस्टल को भी बरामद कर लिया गया है। मामला छिनतई का ही है। संदिग्धों से पूछताछ जारी है। परिजनों के आने के बाद उनसे भी पूछताछ की जाएगी।

गुठनी से भी जुड़ सकता है मामला

गुठनी स्थित आशिर्वाद नन बैंकिंग में काम करने वाले राजकुमार यादव की हत्या के मामले में पुलिस गुठनी में भी जांच कर रही है। मृतक एक नन बैंकिंग में काम करता था। ऐसे में पुलिस हर पहलु पर विशेष जांच कर रही है। वहीं दूसरी तरफ इस मामले में नन बैंकिंग कंपनी के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा पुलिस को सूचना नहीं देना भी संदेहास्पद है। अगर अधिकारियों द्वारा पुलिस को सूचना दे दी जाती तो मृतक की पहचान पूर्व में ही कर ली जाती और पुलिस को मामले के उद्भेदन में आसानी होती।

Loading...