आईआईटी कानपुर ने कोरोना की चौथी लहर का लगाया अनुमान !

0

पटना: देश में कोरोना की तीसरी लहर लगभग समाप्त हो चुकी है। स्कूल, कॉलेज, ट्रेन, समारोह आदि पर से सारे प्रतिबन्ध लगभग ख़त्म कर दिए गए हैं। लोग अपने अपने दुकानों, प्रतिष्ठानों, कार्यालयों और अन्य कामकाज में व्यस्त हो गए हैं। इस बीच देश के लोगों को कोरोना का टीका दिया जा रहा है। बताया जा रहा है की देश में कोरोना वैक्सीन के करीब 150 करोड़ डोज दिए जा चुके हैं। लेकिन इन सबके बीच आईआईटी कानपुर ने एक बार फिर देश में कोरोना की चौथी लहर आने का अनुमान जताया है। इसके पहले दो लहर की संस्थान की ओर से सटीक अनुमान लगाया था।

विज्ञापन
WhatsApp Image 2023-01-25 at 10.13.33 PM
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM

संस्थान की ओर से बताया गया है की देश में 22 जून से कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है। जबकि 23 अगस्त तक यह पीक पर पहुंचेगा और अक्तूबर में यह खत्म होगा। ये स्टडी IIT कानपुर के मैथमेटिक्स और स्टैटिस्टिक्स डिपार्टमेंट के प्रोफेसर शलभ, एसोसिएट प्रोफेसर शुभ्रा शंकर धर और उनके स्टूडेंट सब्र प्रसाद राजेशभाई ने की है। स्टडी के मुताबिक, चौथी लहर के 22 जून 2022 से शुरू होने और 24 अक्टूबर तक खत्म होने का अनुमान है।

चौथी लहर का पीक 15 से 31 अगस्त के बीच रहेगा। इस दौरान 23 अगस्त को सबसे ज्यादा नए केस सामने आएंगे। उसके बाद केस घटने लगेंगे। इस स्टडी के रिसर्चर्स ने कहा कि भारत समेत कई देशों में तीसरी लहर आ चुकी है। वहीं साउथ अफ्रीका और जिम्बाब्वे जैसे देशों में चौथी लहर भी आ चुकी है।

आई आई टी कानपुर के इस रिसर्च के मुताबिक देश को एक बार कोरोना संक्रमण का सामना करना पड़ सकता है। हालाँकि यह भी बताया गया है की यह कोरोना से निपटने की रणनीति और वैक्सीन की स्थिति पर भी निर्भर करेगा।