बिहार विधानसभा में राजद MLA पर भड़के स्‍पीकर, बोले- बाहर करा दूंगा; परिषद में उठा कोरोना का मामला

0

पटना: बिहार विधानमंडल के बजट सत्र के 16वें दिन मंगलवार को भी सदन के अंदर व बाहर हंगामा होता रहा। सदन की कार्यवाही शुरू होने के पहले विधानमंडल परिसर में वाम दलों और राष्‍ट्रीय जनता पार्टी ने बढ़ते अपराध व अन्‍य मुद्दों को लेकर प्रदर्शन किया। प्रदेश में बढ़ते अपराध उधर, विधानसभा के अंदर कार्यवाही के दौरान विधानसभा अध्यक्ष विजय सिन्हा वाम दल के विधायक मनोज मंजिल के कार्यवाही के दौरान बीच में टोका-टोकी करने पर भड़क गए। कहा कि अगर विधायक इस तरह की बात करेंगे तो वे उन्‍हें बाहर करवा देंगे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

स्‍पीकर बोले: आसन पर कोई नहीं बना सकता दबाव

बीते कुछ दिनों से सत्ता पक्ष और विपक्ष के सदस्य विधानसभा में आसन पर भेदभाव के आरोप लगा रहे हैं। इसपर विधानसभा अध्‍यक्ष ने आज कहा कि आसन निष्पक्ष है और सदस्यों के आचरण को जनता देख रही है। उन्‍होंने सदन के सदस्‍यों को कहा कि ऐसा व्यवहार उनके आचरण को दिखाता है। कोई भी आसन पर दबाव नहीं बना सकता है। अपने व्यवहार को ठीक रखिए।

कोरोना काल में बंद स्‍कूलों के फीस लेने का उठा मामला

विधानसभा में कोरोना संक्रमण के दौरान बंद रहे प्राइवेट स्कूलों द्वारा फीस लेने का मामला आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने उठाया। उन्‍होंने कहा कि प्राइवेट स्कूलों की मनमानी से अभिभावक परेशान हैं। इस मामले में शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने कहा कि वे भी चाहते हैं कि कोरोना काल की फीस नहीं ली जाए, लेकिन स्कूल संचालकों का कहना है कि उन्‍होंने ऑनलाइन क्लास लिए हैं।

विभागों में उलझा दिखा सर्पदंश से मौत का मुआवजा

विधायक पवन जायसवाल ने जब सर्पदंश से मौत पर मुआवजा नहीं मिलने का सवाल किया तो मामला विभागों में उलझा दिखा। वन एवं पर्यावरण मंत्री नीरज सिंह ने कहा कि यह उनके विभाग का नहीं, बल्कि आपदा विभाग का मामला है। आपदा मंत्री रेणु देवी ने इसे कहा कि यह वन विभाग का मामला नहीं है। फिर, विधायक पवन जायसवाल ने याद दिलाया कि पूर्व वन एवं पर्यावरण मंत्री सुशील मोदी ने ऐसे मामलों में पांच लाख रुपये देने को कहा था। इसपर नंद किशोर यादव ने कहा कि यह मामला वन एवं पर्यावरण विभाग का ही है।

मंत्री के बेटे को लेकर दोनों सदनों में हंगामा

आरजेडी विधायक ललित यादव ने जब मंत्री रामप्रीत पासवान के बेटे का मामला उठाया तो विधानसभा अध्यक्ष ने पहले अनुमति लेने को कहा। कहा कि सदन में नियम से ही सवाल पूछे जाएंगे। इसके बाद विपक्ष का हंगामा शुरू हो गया। विदित हो कि मंत्री रामप्रीत पासवान के बेटे पर पूर्णिया में नल-जल योजना का निरीक्षण करने का आरोप लगाया गया है। ​​​पीएचईडी मंत्री रामप्रीत पासवान के बेटे के द्वारा नल जल योजना की जांच किए जाने का मामला मंगलवार को विधान परिषद में भी जोर-शोर से उठा। पहले सत्र में शून्यकाल के दौरान कांग्रेस विधानपरिषद प्रेमचंद मिश्रा ने दैनिक जागरण के पहले पेज पर प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए इस मुद्दे को प्रमुखता से उठाया। इसके बाद सत्ता पक्ष के सदस्य हंगामा करने लगे। हंगामा बढ़ने पर प्रेमचंद्र मिश्रा, सुबोध कुमार, डॉ. सुनील कुमार सिंह, रामबली सिंह समेत आधा दर्जन विपक्षी सदस्य सदन के आंगन में सभापति के सामने पहुंच गए।

विधान परिषद में कोरोना के बढ़ते खतरे पर चर्चा

विधान परिषद में कांग्रेस के विधान पार्षद प्रेमचंद्र मिश्रा ने कार्य स्थगन प्रस्ताव रखा। उन्‍होंने कहा कि कोरोना के मामलों में 30 फीसद बढ़ोतरी हुई है। होली को लेकर बिहार में बड़ी संख्या में लोग बाहर से आते हैं। इसे देखते हुए एहतियाती कदम उठाने की जरूरत है। इसपर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में अभी 337 एक्टिव कोरोना मरीज हैं। रोजाना 30 से 40 हजार जांच हो रहे हैं। दूसरे राज्‍यों में बढ़ते मामलों को देखते हुए चिंतित बिहार सरकार भी राज्‍य में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कर रही है।