पल्स पोलियों अभियान की सफलता के लिए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों को दी गयी ट्रेनिंग

0
plus poliyo abhiyan
  • जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन दी गयी ट्रेनिंग
  • अभियान की सफलता के लिए माईक्रो प्लान तैयार करने का निर्देश

सिवान: जिले में 11 अक्टूबर से चलने वाले पल्स पोलियो अभियान को लेकर सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों व बीएचएम को प्रशिक्षण दिया गया। जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन ट्रेनिंग ऑफ ट्रेनर को प्रशक्षित किया गया जो विश्व स्वास्थ्य संगठन की एसएमओ डॉ. शैली गोखले के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया। इसके बाद प्रखंड स्तर पर सुपरवाइजर व टीकाकर्मी को प्रशिक्षित किया जायेगा। एसएमओ डॉ. शैली गोखले ने कहा कि माइक्रोप्लान के तैयार कर शत-प्रतिशत लक्ष्य को हासिल किया जायेगा। सभी कर्मियों को माइक्रोप्लान तैयार करने का निर्देश दिया गया। एसएमओ डॉ. शैली गोखले ने कहाकि दो पड़ोसी देशों अफगानिस्तान एवं पाकिस्तान में पोलियो वायरस का संक्रमण जारी है एवं वर्ष 2020 में अभी तक अफगानिस्तान में 19 एवं पाकिस्तान में 53 पोलियो के मरीज पाए गए हैं। जब तक विश्व में कहीं भी पोलियो का संक्रमण जारी है। राज्य में पोलियो वायरस के पुनः आने का खतरा बना हुआ है। इस खतरे से बचाव के लिए उच्च गुणवत्ता के पल्स पोलियो अभियान चलाना अत्यंत आवश्यक है। इसके साथ ही नियमित टीकाकरण के टीके को शत-प्रतिशत लाभार्थियों तक पहुंचाना भी आवश्यक है। पोलियो अभियान के दौरान सभी टीकाकर्मी दल को आवश्यक मात्रा में मास्क, गल्ब्स एवं सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा। अभियान के दौरान सभी कर्मियों को कोविड-19 से बचाव के लिए जारी दिशानिर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करना आवश्यक है। सभी कर्मियों को मास्क का प्रयोग, ग्लब्स, सैनिटाइजर का प्रयोग करने के लिए दिशा निर्देश दिया गया है। प्रशिक्षण में डब्ल्यूएचओ के एसएमओ डॉ. शैली, सब-रिजनल टीम लीडर डॉ. राजेंद्र कुमार समेत सभी प्रखडों प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी शामिल थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
ads

किसी भी परिस्थिति में पोलिया खुराक से कोई बच्चा वंचित न रहें

डॉ. शैली गोखले ने कहा कि परिस्थिति में किसी भी क्षेत्र के बच्चे पोलियो खुराक लेने से छूटने नहीं चाहिए तथा इस पर विशेष निगरानी दल गठित कर शत-प्रतिशत बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाना सुनिश्चित किया जाएगा। इसके साथ ही सूक्ष्म कार योजना में भी सभी क्षेत्रों को सम्मिलित किया जाए ताकि कोई भी क्षेत्र छूटे नहीं। अभियान के दौरान दूरदराज के क्षेत्र ईट भट्ठा प्रवासी एवं भ्रमण शील आबादी वाले क्षेत्र पर विशेष रूप से ध्यान दिया जाएगा। यहां के बच्चे पोलियो की खुराक लेने से वंचित ना रहे इसके लिए विशेष निगरानी दल गठित किया जाएगा।

दो चरणों में क चलेगा पोलियो अभियान

जिले में 11 से 15 अक्टूबर 2020 एवं 29 नवंबर से 3 दिसंबर तक पल्स पोलियो अभियान चलाया जाएगा। अभियान के दौरान नवजात शिशु को पोलियो की खुराक पिलाए जाने पर विशेष ध्यान दिया जाए एवं खुराक पिलाने के पश्चात नियमित टीकाकरण के ड्यू लिस्ट में समाहित किया जाएगा। सभी दल कर्मियों के पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाएगी। मुख ट्रांजिट स्थलों जैसे बस स्टैंड रेलवे स्टेशन एवं चौक चौराहों से गुजरने वाले बच्चों पर विशेष ध्यान देते हुए प्रतिरक्षण सुनिश्चित किया जाए। ट्रांजिट स्थलों पर प्रशिक्षित टीका कर्मियों को ही कार्य पर लगाया जाएगा।