बड़हरिया के रानीपुर गांव में नल जल योजना व स्टेबलाइजर की चोरी को लेकर आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल काटा

0

मुखिया पर लगाए गए कई गंभीर आरोप

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

परवेज़ अख्तर/सीवान: इन दिनों सरकार के इतने सख्ती के बावजूद भी नल जल योजना में धांधली थमने का नाम नहीं ले रहा है।जिससे शासन व प्रशासन के प्रति लोगों में बड़े पैमाने पर आक्रोश जिले के कई हिस्सों में आए दिन देखने को मिल रहा है।इसी कड़ी में सिवान जिले के बड़हरिया प्रखंड के सदरपुर पंचायत के रानीपुर गांव में रविवार को देखने को मिला।जहां नल जल टंकी का स्टेबलाइजर की चोरी की घटना तथा तरह-तरह के अनियमितता को लेकर आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल काटा।आक्रोशित लोगों ने जिला प्रशासन से नल जल योजना में हुए घोटाला की जांच कराने की मांग की।घटना के संबंध में प्राप्त जानकारी के मुताबिक जिले के बड़हरिया प्रखंड क्षेत्र के सदरपुर  पंचायत के रानीपुर गांव में शनिवार की रात्रि अज्ञात चोरों ने तीन नम्बर वार्ड से नल जल के टंकी का स्टेबलाइजर चोरी कर ली है।प्राप्त जानकारी के अनुसार स्टेबलाइजर की चोरी बीती रात्रि हुई जबकि इसकी जानकारी रविवार की सुबह 7:00 बजे नल जल टंकी पर तैनात गार्ड राजेश्वर यादव ने दिया।

गार्ड ने बताया कि रात्रि 11:00 बजे तक मैं जगा था। लेकिन जब मेरी नींद लग गई उसके बाद ही चोरों ने घटना को अंजाम दिया।उक्त घटित घटना को लेकर तीन नंबर के वार्ड सदस्य सीमा देवी ने एक लिखित आवेदन स्थानीय थाने को सुपुर्द किया है।आवेदन प्राप्त होते हीं पुलिस मामले की छानबीन शुरू कर दी है।उधर उक्त घटना के बाद वार्ड सदस्य समेत अन्य ग्रामीणों ने स्थानीय मुखिया के विरुद्ध नल जल योजना में हुए बड़े पैमाने पर घोटाले का आरोप लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया।आक्रोशित लोगों का कहना था कि स्थानीय मुखिया कफील अहमद की लापरवाही से पूरे पंचायत में नल जल योजना पूर्ण रूप से धरातल पर नहीं उतरी है।

nal jal

आक्रोशित लोगों ने जिला प्रशासन से यह मांग किया कि उक्त पंचायत के सभी वार्डों में नल जल योजना में हुई धांधली की जांच कराई जाए।यहां बताते चलें कि उक्त पंचायत में कई बार स्थानीय ग्रामीण जनता ने नल जल योजना के टंकी के समीप धरना भी दे चुके है।फिर भी अभी तक तीन नंबर वार्ड समेत अन्य वार्ड में नल जल योजना की स्थिति कागजों पर सिमट के रह गया है। आक्रोशित लोगों का कहना है कि बड़े पैमाने पर हुए अनियमितता की शिकायत कई बार हम लोगों ने स्थानीय प्रशासन से की।परंतु स्थानीय प्रशासन द्वारा कोई कारगर कदम नहीं उठाया गया। इस संदर्भ में स्थानीय मुखिया कफील अहमद से पूछे जाने पर उन्होंने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया।