सिवान में 2.50 लाख से अधिक की आबादी को लग चुका है कोरोनारोधी टीका

0

परवेज अख्तर/सिवान : जिले में एक तरफ जहां कोरोना संक्रमण का फै लाव तेजी से हुआ है तो वहीं कोविड 19 के टीकाकरण को लेकर लोगों में उत्साह भी बढ़ा है। इसमें बुजुर्गाें का उत्साह चरम पर है। 16 जनवरी से लेकर अबतक टीकाकरण के इस महा अभियान में कुल 2 लाख 50 हजार 405 लोगों को कोरोनारोधी वैक्सीन का डोज दिया जा चुका है। इनमें 2 लाख 27 हजार 784 पहला व 22 हजार 621 दूसरा डोज शामिल है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. प्रमोद कुमार पांडेय ने बताया कि पहले की अपेक्षा लोगों में टीकाकरण को लेकर जो भी भ्रांतियां थी, अब वह दूर हो चुकी है। इसलिए टीकाकरण सत्र स्थल पर अब लोग दोगुने उत्साह के साथ टीका लेने के लिए जुट रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

1 लाख 29 हजार 725 बुजुर्ग ले चुके हैं टीका का पहला डोज :

जिला प्रतिरक्षण कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अबतक 60 से अधिक उम्र के कुल 1 लाख 29 हजार 725 लोगों ने कोविड रोधी वैक्सीन का डोज लगवाया है। इसमें 1 लाख 23 हजार 939 लोगों को टीके का पहला डोज दिया जा चुका है। वहीं 5 हजार 786 बुजुर्गों ने दूसरा डोज भी ले लिया है। जबकि 45 से 49 वर्ष तक के 85 हजार 14 लोगों ने पहला तथा तीन हजार 359 ने दूसरा डोज ले लिया है। स्वास्थ्य कर्मियों की बात करें तो 13 हजार 257 ने पहला व 10 हजार 30 को टीके का दूसरा डोज दिया गया है। वहीं 5 हजार 574 फ्रंटलाइन व‌र्क्स ने पहला व 3 हजार 446 ने दूसरा डोज ले लिया है। हालांकि इस उपलब्धि के लिए जिले में कई स्तरों पर विशेष अभियान भी चलाए गए थे। जिस कारण आज यह मुकाम हासिल हुआ है। जिले के बुजुर्गों ने अपनी जिम्मेदारी का बखूबी निर्वहन किया है।

संक्रमण से बचाव के लिए इन नियमों का करना होगा पालन :

  • बिना मास्क व फेस कवर के घर से बाहर ना निकलें
  • किसी से मिलने या बात करने के दौरान दो गज की शारीरिक दूरी का पालन करें
  • बेवजह भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचें
  • नियमित अंतराल पर साबुन से अच्छे से हाथ धोएं
  • घर से बाजार जाने के दौरान सैनिटाइजर का प्रयोग करें।

क्या कहते हैं जिम्मेदार :

सरकार के निर्देशों के तहत 45 से अधिक उम्र के लोगों को टीका दिया जा रहा है, लेकिन अभी भी जिले का एक बड़ा वर्ग टीका से वंचित है। वह है जिले के युवा वर्ग, जो वर्तमान समय में संक्रमण की संभावनाओं के बीच अपनी दिनचर्या में व्यस्त है। जैसे ही गाइडलाइन प्राप्त होगी, वैसे ही इनको भी टीकाकृत किया जाएगा। – यदुवंश कुमार शर्मा, सिविल सर्जन, सिवान