वर्चस्व की लड़ाई में मुखिया के भाई की हत्या, गुस्साए लोगों ने थाने पर किया प्रदर्शन

0

पटना: पूर्व विवाद को लेकर सीतामढ़ी जिले के आबापुर गांव में शनिवार को मुखिया के छोटे भाई की तेज धारदार हथियार से वार कर हत्या कर दी गई। मृतक के पेट में तेज धार वाले हथियार के कई जख्म मिले हैं। मृतक की पहचान मुखिया जकउल्लाह उर्फ जकी के छोटे भाई मो. नसरुल्लाह उर्फ नसर (40) के रूप में की गई। इस दौरान मारपीट की घटना में अन्य आधा दर्जन लोग जख्मी हो गये। गंभीर रूप से जख्मी मो. ज्याउल्लाह उर्फ गोरे, मो. मोसफ्फिर और मो. यासिर को पीएचसी पुपरी में भर्ती कराया गया है। इस घटना से आक्रोशित लोगों ने सड़क जाम कर पुपरी थाने पर प्रदर्शन किया। पुपरी-सैदपुर पथ को लोहे का पाइप से जाम कर दिया। साथ ही थाने के बाहर पुलिस के विरुद्ध जमकर नारेबाजी की। लगभग दो घंटे तक सड़क जाम रखा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

जख्मी ज्याउल्लाह ने पुलिस को बताया कि उसके परिवार से गांव के कुछ लोगों को राजनीतिक वर्चस्व को लेकर पूर्व से विवाद रहा है। पंचायत चुनाव में भी उसके भाई मो. जकाउल्लाह पर दिल्ली में कातिलाना हमला हुआ था। जिसमें गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। स्लीपिंग व्हील चेयर पर रहकर जकाउल्लाह पंचायत चुनाव में मुखिया पद पर निर्वाचित हुए। इस बीच गांव में सब कुछ सामान्य रहा है।

एक सप्ताह पूर्व गांव में एक महिला के साथ छेड़छाड़ की घटना घटी थी, जिसमें स्थानीय मो. शमीम को आरोपित बनाया गया है। पीड़ित महिला पर केस उठाने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। जबकि उसका भाई पीड़िता को न्याय दिलाना चाहता है। इसी क्रम में शनिवार को पूर्व सरपंच मो. उबैदुल्लाह के नेतृत्व में हरवे हथियार से लैस होकर घर पर हमला कर दिया गया है। तेज हथियार से जानलेवा हमला में सभी लोगों को आरोपितों ने जख्मी कर दिया है। गंभीर रूप से जख्मी नसरुल्लाह को अस्पताल ले जाया गया है जहां चिकित्सक डॉ. रामाशंकर प्रसाद ने उसे मृत घोषित कर दिया है।