चर्चित पचपकड़िया गांव के निर्मम हत्या कांड में जीबी नगर थाने में पदस्थापित महिला चौकीदार नासरीन परवीन सस्पेंड

0
  • हत्या के मामले में प्राथमिकी दर्ज के बाद वरीय पुलिस पदाधिकारी ने किया सस्पेंड
  • 9 वर्षीय सिराजुदीन हवारी की हुई थी निर्मम हत्या
  • गांव के हीं साढ़वा संग मिलकर मेरे पुत्र को एक षड्यंत्र के तहत अपराधियों से मिलकर उतारा गया है मौत के घाट

✍️परवेज़ अख्तर/एडिटर इन चीफ:
सिवान जिले के जी.बी.नगर थाना क्षेत्र के पचपकड़िया गांव निवासी सह चौकीदार स्वर्गीय मेराज साई के निधन के बाद अनुकंपा के आधार पर बहाल हुई उसकी पत्नी नासरीन परवीन को पुलिस जगत के आला पुलिस पदाधिकारी ने उसके विरुद्ध हत्या के मामले दर्ज होने के बाद सस्पेंड कर दिया है।यहां बताते चलें बीते माह इसी थाना क्षेत्र के काला डुमरा गांव के चंवर से ग्रामीणों की सूचना के आधार पर पुलिस टीम ने पचपकड़िया गांव के बाबुजान धोबी के 9 बर्षीय पुत्र सिराजुदीन हवारी के शव को बरामद किया गया था।अपराधियों द्वारा 9 वर्षीय सिराजुद्दीन हवारी की निर्मम तरीके से हत्या कर उसके शव को उपरोक्त गांव के चंवर स्थित ढैंचा के खेत में साक्ष्य मिटाने के उद्देश्य फेंक डाला था।उक्त घटित घटना के बाद मृतक के पिता के तहरीर पर पचपकड़िया गांव के महिला चौकीदार स्वर्गीय मेराज साई की पत्नी नासरीन परवीन,स्वर्गीय असगर साई के पुत्र खुर्शेद साई तथा खुर्शेद साई के पुत्र दानिश साई को नामजद करते हुए यह आरोप लगाया है कि मेरे पुत्र सिराजुदीन हवारी को पुरानी रंजिश को लेकर एक सोची समझी साजिश के तहत अपहरण कर उसकी हत्या करके साक्ष्य छुपाने की नीयत से शव को काला डुमरा गांव के चंवर स्तिथ ढैंचा के खेत में फेंक दी गई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
WhatsApp Image 2022-08-26 at 8.35.34 PM
WhatsApp Image 2022-09-15 at 8.17.37 PM
WhatsApp Image 2022-09-27 at 9.29.39 PM

पूर्व से हीं नामजद सभी अभियुक्त तरह तरह की धमकी दे रहे थे।यहां बताते चले की नामजद अभियुक्त खुर्शेद साई ने दो वर्ष पूर्व अपने पिता चौकीदार असगर साई को चाकू से गोद कर मौत के घाट उतार दिया था।जिसमे वह जेल से जमानत पाकर घर आया हुआ है।जबकि महिला चौकीदार नासरीन परवीन अपने पति के निधन के बाद स्थानीय थाना में अनुकंपा के आधार पर चौकीदार के पद पर वर्तमान में कार्यरत थी।इस संदर्भ में थानाध्यक्ष श्री अखिलेश कुमार ने बताया कि मृतक के पिता बाबुजान धोबी के लिखित तहरीर पर सुसंगत धाराओं के अंतर्गत तीन के विरुद्ध नामजद प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है।आगे की कार्रवाई के लिए वरीय पुलिस पदाधिकारी के पर्यवेक्षण टिप्पणी का इंतजार किया जा रहा है।अनुसंधान के दौरान कई बातें सामने उभर कर आई है।जिसे भी बारीकी पूर्वक अध्ययन किया जा रहा है।श्री कुमार ने आगे अनुसंधान प्रभावित होने का हवाला देते हुए कुछ भी बताने से साफ – साफ इंकार किया है।यहां बताते चले कि सिराजुद्दीन हवारी हत्याकांड के इतने दिन बीत जाने के बाद भी उसके परिजन सदमे से नहीं उबर पा रहे हैं।

मृतक की मां शायरा खातून की जुबान से गांव के हीं साढ़वा व सढ़निया को घटना में शामिल होने का नाम उसके जुबान से नहीं हट रहा है।अभी भी मृतक की मां यह कहते-कहते बेसुध हो जा रही है की एक सुनियोजित योजना के तहत पूर्व के दुश्मनी को लेकर घटना का अंजाम दिया गया है।निर्मम तरीके से हत्या करने के बाद अपराधियों द्वारा साक्ष्य छुपाने की नीयत से शव को काला डुमरा गांव के चंवर स्तिथ ढैंचा के खेत मे फेंक दिया गया था।अब भी मृतक की मां बार-बार यह कहते हुए उसके आंखों से आंसू झलक जा रहे हैं कि गांव के हीं सढ़निया द्वारा धमकी दी गई थी कि तुम्हारे पुत्र को साढ़वा संग मिलकर खा जाऊँगी और मेरे पुत्र को आखिरकार एक षड्यंत्र व साजिश रच कर अपराधियों संग मिलकर घटना को अंजाम दे डाला गया।

बहरहाल मामला चाहे जो हो घटना के इतने दिन बीत जाने के बाद भी पुलिस किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंचे पहुंची हुई है और दर्ज कांड के सभी आरोपी खुलेआम घूम रहे हैं जिससे परिजनों का विश्वास पुलिस के ऊपर से उठते हुए नजर आ रहा है।परिजनों का कहना है कि हत्याकांड के नामजद आरोपित नासरीन परवीन खुलेआम गांव में घूम रही है तथा मुकदमा को सुलह कराने के लिए बड़े-बड़े रसूख रखने वाले लोगों से दबाव बनवा रही है।परिजनों का कहना है कि बड़े-बड़े रसूख रखने वाले लोगों का कहना है कि आप लोग वरीय पुलिस पदाधिकारी को दर्ज कांड के आरोपित नासरीन परवीन के पक्ष में एक आवेदन दे दीजिए ताकि इसकी मदद सुपरविजन में हो सके।