तरवारा के माधोपुर में ईंट से लदी अनियंत्रित ट्रैक्टर पलटने से जहांगीर आलम की मौत

0
  • रोजगार की तलाश में मुजफ्फरपुर से सीवान आया था मृतक
  • दीनदयालपुर गांव में अंतरजातीय विवाह कर अपने ससुराल में रहता था मृतक

परवेज अख्तर/सिवान :
सीवान-बसंतपुर मुख्यमार्ग के माधोपुर गांव के समीप ईट से लदी अनियंत्रित ट्रैक्टर के पलटने से चिमनी पर काम कर रहे मजदूर की घटनास्थल पर मौत हो गयी। इस दौरान ट्रैक्टर पलटते देख ट्रैक्टर चालक समेत दो युवक कूद गए।चलती ट्रैक्टर से कूदने के दौरान चालक मामूली रूप से घायल हो गया। घटना के बाद लोगों की भारी भीड़ लग गयी। इसकी सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।घटना की सूचना मिलते ही मृत युवक के घर मुजफ्फरपुर में कोहराम मच गया। घटना की सूचना मिलते ही मृतक के परिवार के लोग रविवार की देर शाम सिवान पहुंच गए।शव का पोस्टमार्टम कराने के बाद पुलिस ने शव परिजनों को सौंप दिया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इंस्पेक्टर प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि ट्रैक्टर चालक मुजफ्फरपुर जिले के मीनापुर थाना क्षेत्र के बिशुनपुर केशव गांव निवासी मो.अहमद अंसारी का पुत्र जहांगीर आलम उर्फ मुन्ना मियां है।जो अंतरजातीय विवाह कर दीनदयालपुर स्थित हरिजन टोली में रहता था।वह मुजफ्फरपुर से 4 वर्ष पूर्व रोजगार की तलाश में सीवान आया था। इसके बाद उसने दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना के तहत चल रहे विद्युतीकरण के कार्यों में मजदूरी का काम शुरू कर दिया था।कोविड-19 की वजह से विद्युतीकरण का कार्य ठप होने से उस की दयनीय स्थिति खराब हो गई थी।इसके बाद वह दो माह से ईट भट्ठा पर मजदूरी का काम कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था।रविवार की दोपहर कर्णपुरा पंचायत के मट्ठीयां नहर स्थित चिमनी भट्ठा से ईट लेकर माधोपुर गांव जा रहा था। तभी ट्रैक्टर चालक का नियंत्रण बिगड़ने से ट्रैक्टर सड़क किनारे खड्डे में पलट गयी।जिससे मजदूर की मौत घटनास्थल पर हो गयी।

accident

उधर सड़क दुर्घटना में मजदूर की मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया।मृत जहांगीर आलम उर्फ मुन्ना मियां दीनदयालपुर गांव में अंतरजातीय विवाह कर अपने ससुराल में रहता था।वह मजदूरी कर अपने परिवार का भरण पोषण करता था।मृत युवक को एक पुत्र रेहान व एक पुत्री आशिका है।बच्चों के पिता के शव से लिपट कर रोते बिलखते देख सबकी आंखें गमगीन हो गयी हैं। वही घटना से पत्नी चांदनी देवी पति के असामयिक निधन से आंखें पथरा गयी है।उसके सामने बच्चों के भरण-पोषण की चिंता सताने लगी है। मुन्ना अपने अपने अच्छा भाइयों में पिता का दूसरा संतान था।