“जनती के जारल जइबु , आग के दहेज में, पाप नाही करती हो बेटी ससुरा में भेज के” !

0
dowry murder
  • दरौली में दहेज के लिए बली चढ़ी मनोरमा
  • बाबू जी के घर वालों ससुराल वालों पर लगाया इल्जाम
  • मनोरमा के पोस्टमार्टम के बाद खुलेगा राज

✍️ परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ:
“जनती के जारल जइबु , आग के दहेज में, पाप नाही करती हो बेटी ससुरा में भेज के..! पाप नाही करती हो बेटी…!! उक्त लोकगीत सोमवार को दरौली थाना परिसर में उस समय सटीक बैठने लगी थी की जब एक दहेज के लिए बलि चढ़ी मनोरमा के मायके वालों ने थाना परिसर में रो-रो कर अपना दुखड़ा पुलिस के समक्ष सुनाने लगे। यहां बताते चले की दरौली थाना क्षेत्र के सरेया रामपुर गांव में संदेहास्पद स्थिति में एक नवविवाहिता की मौत हो गई।नवविवाहिता की पहचान उक्त गांव निवासी लक्ष्मण भगत की पत्नी मनोरमा देवी के रूप में की गई। मौत के बाद से नव विवाहिता के ससुराल वाले फरार है। घटना के संबंध में नवविवाहिता के भाई हुसैनगंज थाना के हबीबनगर निवासी सुदामा भगत के पुत्र नीतीश ने बताया कि बहन की शादी दरौली थाना क्षेत्र के सरेया रामपुर निवासी स्व. रामायण भरत के पुत्र लक्ष्मण भगत से बीते वर्ष 2020 में किया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
muskan buty

शादी के बाद जब बहन अपने ससुराल गई, तो ससुराल वालों द्वारा दहेज के लिए प्रताड़ित किया जाने लगा। यह कुछ दिनों तक चलता रहा। बहन जब मायके आई तो सारी बातें परिजनों को बताई। जिसके बाद परिजन इसको लेकर  ससुराल पहुंचे और पति लक्ष्मण भगत और उनके परिजनों को काफी समझाया बुझाया। जहां उनलोगों द्वारा अगले बार से कुछ नहीं करने की बात कही।उसके बाद बहन ससुराल चली गई. परंतु ससुराल वाले प्रताड़ित करना नहीं छोड़े। एसी, फ्रीज सहित चार पहिया वाहन की मांग करने लगे। जिसके बाद फोन के माध्यम से उसने अपने भाई से यह बात बताई।यह मामला यूं ही चलता रहा। इधर रविवार की संध्या बहन के घर से फोन आया कि आपके बहन की तबीयत खराब है।

आकर मिल लीजिए।रात काफी होने की बजह से परिजन अगले दिन जाने की बात कही।अगले दिन जब बहन के घर गया तो मनोरमा का शव पाया। जिसके बाद भाई नीतीश ने इसकी सूचना अपने परिजनों को दी।इधर मृतिका के मां रीता देवी ने थाना में दिये आवेदन में कहा है कि बेटी जब भी मायके आती थी, ससुराल वालों द्वारा दहेज के लिए प्रताड़ित करने की व्यथा सुनाती थी।मांग पुरी नहीं करने पर जहर देकर मार डाला है। सूचना पाकर पहुंची दरौली थाना की पुलिस ने  मृतिका मनोरमा देवी की लाश बरामद कर सोमवार की दोपहर सिवान सदर अस्पताल भेज दिया। जहां समाजसेवी श्रीनिवास यादव की देखरेख में पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के बाद लाश उसके वारिस को सुपुर्द कर दिया गया। दरौली पुलिस का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का पता चल सकेगा। वैसे प्राथमिकी दर्ज कर घटना के हरेक बिंदुओं पर बारीकी पूर्वक अनुसंधान की जा रही है।