JDU के तारापुर उम्मीदवार पर आर्म्स एक्ट से लेकर हत्या के प्रयास का मामला है दर्ज

0

पटना: बिहार में विधानसभा की दो सीटों पर हो रहे उपचुनाव को लेकर मंगलवार को एनडीए के प्रत्याशियों ने अपना नामांकन का पर्चा दाखिल किया। तारापुर विधानसभा सीट से एनडीए की ओर से जदयू प्रत्याशी राजीव कुमार सिंह ऊपर बम विस्फोट कराने, जानलेवा हमला जैसे तीन संगीन मामले चल रहे हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

कांड संक्या 47/ 2014 में राजीव कुमार सिंह पर IPC धारा 3 और 4 का आरोप लगाया गया है. ये विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के तहत आता है. राजीव कुमार सिंह ने अपने शपथ पत्र में लिखा है कि घर के सामने गोदाम में अचानक बम विस्फोट हुआ था, उसमें इन्हें आरोपी बनाया गया था। तारापुर थाना में ही दर्ज केस 88A/1994 में JDU प्रत्याशी पर धारा 25, 1B, 25/35 आर्म्स एक्ट लगाया गया है. आर्म्स एक्ट के तहत जब पुलिस पकड़ती है तो 7 साल तक की सजा होती है. इसमें आजीवन कारावास का भी प्रावधान है।

गौरतलब है कि बिहार विधानसभा चुनाव के बाद पहली बार बिहार में 2 सीटों पर उपचुनाव हो रहा है। तारापुर और कुशेश्वरस्थान दोनों ही सीटें जदयू विधायकों के निधन के कारण खाली हुई है. तारापुर सीट पिछले कई चुनावों से जेडीयू के पास रही है. साल 2010 में मेवालाल चौधरी की पत्नी नीता चौधरी चुनाव जीती थीं, जबकि 2015 और 2020 में मेवालाल चौधरी ने ही जेडीयू के टिकट पर कामयाबी का परचम लहराया था. विधायक मेवालाल चौधरी के कोरोना से आकस्मिक निधन के बाद तारापुर विधानसभा के लिए उपचुनाव होना है. यहां पर 30 अक्टूबर को मतदान होना है।