जीरादेई व दरौली के विधायक फंड के मनमानी अधिग्रहण से उपवास पर बैठें

0

परवेज अख्तर/सिवान: जीरादेई व दरौली विस से भाकपा माले विधायक अमरजीत कुशवाहा व सत्यदेव राम अपने-अपने समर्थकों के साथ शुक्रवार को सरकार द्वारा मनमानी तरीके से विधायक फंड का अधिग्रहण करने से नाराज होकर एक दिन के उपवास पर बैठ गए. कोरोना नियमों का पालन करते हुए उपवास पर बैठे जीरादेई विधायक अमरजीत कुशवाहा व सत्यदेव राम ने कहा कि बिहार सरकार विधायक फंड का दो करोड़ रुपए कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर ठीक करने के नाम पर ले लिया. उन्होंने कहा कि यह अधिग्रहण किया हुआ पैसा मनमानी तरीके से लिया गया है. उनकी मांग है कि इसमें से 50 प्रतिशत पैसा विधायकों के स्थानीय क्षेत्र के अस्पतालों में दवा चिकित्सक एवं ऑक्सीजन को सुदृढ़ करने के लिए खर्च करने का अधिकार उनको दिया जाए. इस पैसे को विधायकों से बिना राय मशवरा किए तथा बिना अनुशंसा कराए मनमानी ले लिया गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

उन्होंने यह भी कहा कि बिहार सरकार पर उन्हें विश्वास नहीं है कि पूरे बिहार में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकार खर्च करेगी. उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि सरकार द्वारा इन पैसों की अधिकरण कर लिए जाने के बाद विकास में भेदभाव होगा. मैरवा में उपवास स्थल पर भाकपा माले के समर्थकों में स्थानीय विधायक के साथ कबीरपुर मुखिया अशोक प्रजापति, बड़गांव मुखिया उषा देवी, मुखिया अजय चौहान, जिप सदस्य उपेंद्र गौड़, पूर्व पार्षद सुरेंद्र विश्वकर्मा, इनौस प्रखंड अध्यक्ष जीशु अंसारी, जय शंकर पंडित, तारकेश्वर यादव व दरौली में लालबहादुर भगत, जगजीतन शर्मा, बबन राजभर, राजेंद्र यादव, जोगिंद्र यादव, ललन यादव, धर्मेन्द्र गुप्ता, भानजी राम सहित अन्य लोग उपस्थित थे. वहीं सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए दरौंदा में विरोध प्रदर्शन किया गया.

इस दौरान माले नेता जयशंकर पंडित ने कहा कि माले विधायकों द्वारा 2-2 करोड़ रुपया कोविड महामारी से निजात के लिए फंड दिया गया, लेकिन ये सरकार फंड का सही तरीका से इस्तमाल नहीं कर रही है और न ही विधायकों के अनुसंशित पैसा से क्या-क्या स्वास्थ्य उपकरण लिया गया. इसकी सूचना दे रही है. इसलिए इस विरोध के तहत मांग करते है कि तत्काल सरकार अनुसंशित पैसा का सही इस्तेमाल करे और इसका ब्योरा विधायकों को दे. विधायकों को ऑक्सीजन प्लांट लगाने की अनुसंशा का अधिकार दें.  सामुदायिक किचेन में खाने का बेहतर व्यवस्था किया जाए. इस विरोध में सुभाष पडित, मनीष पंडित, संजीव कुमार, दिनेश राम, विनोद शर्मा, हामिद अंसारी, सुरेंद्र प्रसाद, अजित पंडित, रामशंकर, मुकेश पंडित, तिलक व्यास सहित तमाम लोग उपस्थित रहे.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here