जम्मू व यूपी में दुष्कर्म के विरोध में ऐपवा का न्याय मार्च

0

परवेज़ अख्तर/सीवान:- जम्मू एवं यूपी के उन्नाव में बच्चियों के साथ हुए दुष्कर्म के विरोध में शहर में अखिल भारतीय प्रगतिशील महिला एसोसिएशन (ऐपवा) एवं इंकलाबी नौजवान सभा(इंनौस) ने संयुक्त रूप से रविवार को न्याय मार्च निकाला। न्याय मार्च खुरमाबाद स्थित पार्टी कार्यालय से चल विभिन्न मार्गों से होते हुए जेपी चौक पहुंचा और सभा में तब्दील हो गया। सभा को संबोधित करते हुए ऐपवा जिला सचिव सह जिला पार्षद सोहिला गुप्ता ने कहा कि केंद्र और बिहार में गरीबों के मसीहा चाय वाले प्रधानमंत्री हैं तो सुशासन बाबू मुख्यमंत्री हैं। पूर्णिया में वर्षों पहले भाजपा विधायक राजकिशोर केसरी ने दुष्कर्म किया अब यूपी के उन्नाव में भाजपा विधायक दुष्कर्म करते हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने स्वामी चिन्मयानंद पर हुए दुष्कर्म के मुकदमे को वापस कर लिया, दूसरी ओर बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा भाजपा सरकार दे रही है। मोदी जी और उनकी सरकार और विधायक सब का असली चेहरा सामने आ गया है। 498 के धारा को संशोधित कर कमजोर कर दिया गया। कार्रवाई करने एवं कानून का पालन करने बजाए दुष्कर्मियों को सरकारी संरक्षण मिल रहा है। इस दौरान देश प्रेम, दलित प्रेम, महिला सशक्तीकरण, सुशासन सब फेल हो गया है। समाज में गरीब की बेटियों की कोई मोल नहीं है। उन्होंने कहा कि पीड़िता को न्याय मिले, कानून का कड़ाई से पालन हो दुष्कर्मियों की फांसी की सजा दी जाए। सभा को आइसा नेता विकास यादव,जयशंकर पंडित ने कहा कि उन्नाव की घटना ने मानवता को शर्मसार किया है। पीड़ित को सुरक्षा एवं दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग की। उन्होंने कहा कि न्याय के लिए पार्टी एकजुट होकर संघर्ष करती रहेगी। इस मौके पर मंजीता कौर, कुमांती राम, योगेंद्र यादव, बृजेंद्र राम, हीरामती देवी आदि ने संबोधित किया।