शराबी पति ने पीट-पीटकर पत्नी को मार डाला, शव को बगीचे में फेंका

0
vivahita ka shav

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के दारौंदा थाना क्षेत्र के बगौरा गांव में सोमवार की रात्रि एक विवाहिता की हत्या कर घरवालों ने शव को बगीचे में फेंक दिया। मंगलवार की सुबह गांव के पश्चिम टोला स्थित बगीचे में महिला का शव को देख काफी संख्या में ग्रामीण एकत्रित हो गए। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस घटनास्थल पर पहुंच कर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सिवान सदर अस्पताल भेज दिया। विवाहिता के शव की पहचान बगौरा निवासी रंजीत महतो की पत्नी सुनीता देवी के रूप में हुई है। घटना को लेकर ग्रामीणों में चर्चा हो रही थी कि दशहरा के समय ही रावण वध के दौरान सुनीता के मायके से आए लोगों ने दारौंदा थानाध्यक्ष से ससुराल के लोगों द्वारा सुनीता को प्रताड़ित करने एवं जान से मार देने की शिकायत मौखिक की थी। इसके बाद पुलिस मामले की जांच कर परिवार वाले को समझाया था। मृतका का पति शराब पी कर मारपीट की घटना हमेशा करते रहता था। मृतका के मायके के साथ-साथ ग्रामीणों का कहना था कि शिकायत पर पुलिस पहले ही कार्रवाई कर दी होती तो ऐसी घटना नहीं होती। इधर घटना के बाद ससुराल के सभी सदस्य घर छोड़कर फरार हो गए हैं। थानाध्यक्ष मनोज कुमार प्रभाकर ने कहा कि महिला की हत्या घर में ही कर दी गई है। हत्या के बाद शव को लाकर बगीचे में फेंक दिया गया है। शव अर्धनग्न अवस्था में पाया गया है। समाचार प्रेषण तक इस मामले में प्राथमिकी नहीं दर्ज हुई थी।

शराबी पति से आजिज हो गई थी सुनीता

दारौंदा थाना क्षेत्र के बगौरा पश्चिम टोला स्थित बगीचे में मंगलवार की सुबह गांव के ही रंजीत महतो की पत्नी सुनीता देवी का शव बरामद होने के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई । सुनीता बगौरा निवासी रंजीत महतो की तीसरी पत्नी थी। सूत्र बताते हैं कि पहली पत्नी शराबी पति के रवैया से क्षुब्ध होकर चली गई । दूसरी पत्नी की किसी बीमारी के चलते मृत्यु हो गई । तीसरी पत्नी सुनीता भी पति प्रताड़ित से क्षुब्ध थी । अपने मायके में पति की शिकायत की थी । आए दिन पति शराब पीकर घर में मारपीट करते थे । दहेज में बाइक की भी मांग की जाती थी। दहेज देने में असमर्थ होने के चलते आए दिन पत्नी को प्रताड़ित किया जाता था । इसी क्रम में दशहरे के रावण जलाने के दिन भी मारपीट करने की शिकायत पुलिस तक पंहुची थी। जिस पर पुलिस जांच भी की गई, लेकिन पति के रवैये में कोई सुधार नहीं आया, जिसका नतीजा हुआ कि मंगलवार की सुबह बगौरा पश्चिम आम के बगीचा में सुनीता का फेंका हुआ शव मिला । इस मामले के उजागर के बाद घर में ताला लगाकर पति समेत परिवार के सभी सदस्य फरार हो गए हैं । इस घटना को लेकर कई तरह की अटकलें लगनी तेज हो गई हैं । वहीं मृतका के मायके वाले दारौंदा थाने में परिजनों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने मे जुट गए हैं । थानाध्यक्ष मनोज कुमार प्रभाकर ने बताया कि महिला का मायके गोरेयाकोठी थाना क्षेत्र के सिसई है। उसके मायके के सदस्यों द्वारा थाना में आवेदन देने के बाद हत्या की प्राथमिकी दर्ज होगी । ज्ञात हो कि सात वर्ष पूर्व 2011 में सुनीता से तीसरी शादी की थी। सुनीता का एक बेटा और एक बेटी है। सभी का रो-रोकर बुरा हाल है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here