कोविड-19 टीकाकरण अभियान ने पकड़ी रफ्तार, राज्य में सारण को मिला पहला स्थान

0
  • जिलाधिकारी व सिविल सर्जन की कार्यकुशलता का दिख रहा है परिणाम
  • 1 अप्रैल को 15 हजार से अधिक लाभुकों को लगा टीका
  • जिले में अब 1 लाख से अधिक लाभार्थी ले चुके है वैक्सीन

छपरा: कोरोना जैसी महामारी से सुरक्षा के लिए जिले में कोविड-19 टीकाकरण अभियान जोर-शोर से चलाया जा रहा है। टीकाकरण के लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने के लिए लगातार जिलापदाधिकारी व सिविल सर्जन मॉनिटरिंग कर रहे हैं । 1 अप्रैल से जिले में 45 वर्ष या उससे अधिक के सभी व्यक्ति के लिए टीकाकरण की शुरुआत की गयी। जिसमें सारण जिले में 15 हजार 921 लाभर्थियों ने अपना टीकाकरण कराया। इस आंकड़े के साथ सारण जिले को बिहार में पहला स्थान हासिल हुआ है। सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने चिकित्सकों व कर्मियों के कार्यों की सराहना की है। सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने बताया जिले में अब तक 1 लाख 12 हजार 250 से अधिक लाभुकों ने कोविड-19 का टीकाकरण कराया है। जिसमें प्रथम डोज 95319 तथा सेकेंड डोज 16376 लाभुकों को दिया गया है। सिविल सर्जन व जिला पदाधिकारी की कार्यकुशलता का सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहा है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

टीकाकरण में पुरुषों से आगे हैं महिलाएं

सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने कहा कोविड-19 टीकाकरण के प्रति लोगों में जागरूकता आयी है। इसमें पुरुषों से अधिक महिलाओं ने अपनी सहभागिता को सुनिश्चित किया है। जिले में 48 हजार 677 महिलाओं ने कोविड-19 का टीका लिया है। वहीं 47 हजार 232 पुरुषों ने टीका लगवाया है। जिले में 4 ट्रांसजेंडर ने भी कोविड-19 का टीका लिया है।

पूरे अभियान की हो रही है मॉनिटरिंग

टीकाकरण अभियान की जिला व प्रखंडस्तर पर मॉनिटरिंग की जा रही है। जिला पदाधिकारी डॉ. नीलेश रामचंद्र देवरे के द्वारा प्रतिदिन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा की जा रही है। वहीं सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार व अन्य पदाधिकारियों के द्वारा टीकाकरण केंद्रों का निरीक्षण किया जा रहा है। इसके साथ प्रत्येक दो घंटें पर टीकाकरण की रिपोर्टिंग की जा रही है। लक्ष्य को शत-प्रतिशत हासिल करने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।

45 साल से ऊपर के कोई भी व्यक्ति ले सकता है टीका

सिविल सर्जन डॉ. जर्नादन प्रसाद सुकुमार ने कहा अब 45 साल से अधिक उम्र का कोई भी व्यक्ति अपने नजदीकी केंद्र पर पहुंच कर कोरोना का टीका ले सकेंगे। उन्होंने कहा टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के उद्देश्य से सरकार ने 45 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों को टीका लगाने का निर्णय लिया है। टीका लगाने के लिये उम्र व पहचान संबंधी सत्यापन के लिए टीकाकरण स्थल पर लोगों का अपना आधार कार्ड उपलब्ध कराना अनिवार्य होगा।

वैक्सीन के बाद भी सावधानी बरतें

सिविल सर्जन ने कहा कि कोविड-19 वैक्सीन लेने के बाद भी लोगों को कोरोना को लेकर तमाम तरह की सावधानियां बरतनी है। मास्क का इस्तेमाल नियमित करना है और दो गज की दूरी भी बनाकर रखनी है।

इन मानकों का ख्याल रख संक्रमण से रहें दूर

  • दो गज की शारीरिक दूरी का हमेशा ख्याल रखें।
  • मास्क का नियमित रूप से उपयोग करें।
  • साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें।
  • बाहरी खाना खाने से परहेज करें।
  • घर से बाहर निकलने पर निश्चित रूप से सैनिटाइजर साथ रखें।
  • भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।