सिवान में साढ़े छह करोड़ की लागत से बनेगा श्रम विभाग का कार्यालय

0

परवेज़ अख्तर/सिवान:
श्रम संसाधन विभाग से संबंधित सभी कार्यालयों को एक छत के नीचे लाने की कवायद शुरू कर दी गई है। इसके लिए राज्य सरकार ने जिला मुख्यालय में संयुक्त श्रम भवन का निर्माण कराने का आदेश दिया है। भवन प्रमंडल के कार्यपालक अभियंता मलय कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि 120 गुणा 119 वर्गफीट रकबा में करीब साढ़े छह करोड़ की लागत से संयुक्त भवन का निर्माण कराया जाना है, लेकिन भूमि नहीं मिलने के कारण निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पा रहा है। जिला श्रम नियोजनालय पदाधिकारी अजय कुमार ने बताया कि संयुक्त श्रम भवन के निर्माण के लिए भूमि चयन करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। शीघ्र ही जिला प्रशासन द्वारा भूमि का चयन भी कर लिया जाएगा।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

जी प्लस टू का होगा संयुक्त श्रम भवन

जिला श्रम नियोजनालय पदाधिकारी ने बताया कि संयुक्त श्रम भवन का निर्माण जी प्लस टू कराया जाएगा। इस भवन में श्रम विभाग से जुड़े सभी कार्यालयों को शिफ्ट कराया जाएगा। भवन का निर्माण 15 हजार वर्गफीट रकबा में कराया जाएगा। संयुक्त श्रम भवन में श्रम अधीक्षक का कार्यालय, कारखाना निरीक्षक का कार्यालय, श्रम न्यायालय, नियोजन अधिकारी का कार्यालय सहित श्रम विभाग के अन्य कार्यालयों को शिफ्ट कर दिया जाएगा।

जर्जर भवन में चल रहा नियोजन व श्रम अधीक्षक कार्यालय

वर्तमान समय में महादेवा रोड में जिला नियोजन कार्यालय व डीएवी मोड़ के समीप श्रम अधीक्षक का कार्यालय दोनों ही जर्जर भवन में संचालित हो रहे हैं। दोनों कार्यालयों में एक ओर अधिकारी व कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम करते हैं, तो वहीं उचित रखरखाव के अभाव और बरसात के दिनों में बारिश के पानी के कारण में महत्वपूर्ण काजगात भी नष्ट हो जाते हैं। कार्यालयों के छत का प्लास्टर झड़ कर गिरना यहां आम बात है।

बता दें कि दोनों कार्यालयों में करीब दस से पंद्रह कर्मचारी अपनी जान जोखिम में डालकर काम करते हैं। इन कार्यालयों में जगह का भी काफी अभाव है। कर्मचारी व पदाधिकारी काफी तंग स्थिति में फाइलों के बीच बैठकर अपने काम का निपटारा करते हैं।

क्या कहते हैं जिम्मेदार

जिला मुख्यालय में संयुक्त श्रम भवन का निर्माण किया जाएगा। इसके निर्माण को लेकर श्रम विभाग द्वारा भवन प्रमंडल विभाग को निर्देशित किया गया है। हालांकि इसको लेकर अभी तक भूमि का चयन नहीं हो पाया है। भूमि चयनित हो जाने के बाद आगे भवन निर्माण का कार्य भी शुरू हो जाएगा।

अजय कुमार, श्रम अधीक्षक, सिवान।