शटरिंग से गिरकर मजदूर की मौत

0
Dead body in a mortuary

परवेज अख्तर/सिवान : जिले के एमएच नगर थाना के तेलकथू निवासी एक व्यक्ति की मौत छत की ढलाई के लिए लगाए गए शटरिंग से गिर कर हो गई। वीरेंद्र यादव बताया जाता है। वह सिवान में मकान निर्माण में लगे सट्रिंग में मजदूर का काम कर रहा था। घटना के संबंध में बताया जाता है कि बुधवार को एमएच नगर थाना क्षेत्र के तेलकथू निवासी वीरेंद्र यादव (45) सिवान में बन रहे एक मकान में शटरिंग पर कार्य कर रहा था। कार्य करते वक्त गिरकर गंभीर रूप से घायल हो गया। स्थानीय लोगों की मदद से उसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया जहां उसकी मौत हो गई। पुलिस ने उनके शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया। वीरेंद्र यादव की मौत से उनके परिवार में दीपावली की खुशियां पल भर में काफूर हो गई। पत्नी विद्या देवी, पुत्र-पुत्रियों समेत सभी परिजनों के चीत्कार से गांव गमगीन हो गया। वहीं उनकी पत्नी विद्या देवी एवं पुत्र-पुत्रियां पिता के शव से लिपट दहाड़ मार रो रही थी और बार-बार बेहोश हो जा रही थी। इनके चीत्कार से वहां उपस्थित लोगों की आंखें नम हो जा रही थीं। लोग परिजनों को ढाढ़स बंधा रहे थे। मृतक वीरेंद्र यादव को एक पुत्र रामबाबू यादव (19) तथा तीन पुत्री क्रमश: शोभा कुमारी (17), अंकी कुमारी (11) तथा काजल कुमारी (7) हैं जो सभी अविवाहित हैं। आसपास के लोग परिजनों का सांत्वना देने में जुटे हुए हैं।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

वीरेंद्र की मौत से परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़

सिवान में बने रहे मकान में शटरिंग पर मजदूरी का कार्य कर रहे वीरेंद्र यादव की मौत से उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा। उनके चल रही दीपावली की खुशियां पल भर में काफूर हो गई। परिजनों के चीत्कार से पूरे मोहल्ले में मातमी सन्नाटा पसर गया। आसपास के लोग उनके दरवाजे पर पहुंच सांत्वना देने में लग गए। वीरेंद्र यादव घर का कमाऊ सदस्य था। किसी तरह मजदूरी कर परिवार कर खर्च चलाता था। बच्चों को उम्मीद थी कि पापा काम से लौटेंगे तो दीपावली के लिए सारे सामान लेकर आएंगे जिसकी तैयारी में थे। घर के परिजन घर की सफाई एवं सजावट कर रहे थे तभी सूचना आई कि वीरेंद्र यादव की मौत की। इतना सुनते ही सभी बेसुध हो गए और परिजन सिवान की ओर दौड़ पड़े। परिजनों के चीत्कार से पूरा माहौल गमगीन हो गया। वीरेंद्र यादव अपने एक पुत्र तथा तीन पुत्रियों में किसी की भी शादी नहीं किए हैं। ये सभी सोच उनकी पत्नी एवं बच्चों को और सोचने पर मजबूर कर दे रही है। वीरेंद्र यादव गरीब परिवार से आते हैं।