लालू यादव ने किया चिराग पासवान का समर्थन, कहा- हमारे लिए वही रहेंगे एलजेपी के नेता

0

पटना: पिछले कुछ दिनों से लोक जनशक्ति पार्टी में काफी उथल-पुथल मची हुई है। चिराग पासवान को उनकी ही पार्टी के तमाम लोगों का समर्थन नहीं मिल रहा है। चिराग के चाचा तक ने उनका साथ छोड़ दिया है। ऐसे में चिराग पासवान को आरजेडी मुखिया चीफ लालू प्रसाद यादव का समर्थन मिला है। लालू यादव ने कहा है कि हमारे लिए तो एलजेपी के नेता वही रहेंगे। यह बात लालू यादव ने तब कही, जब उनसे बिहार में चिराग और तेजस्वी के गठबंधन को लेकर सवाल पूछा गया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

चिराग और तेजस्वी में गठबंधन को ओके

लालू यादव ने मंगलवार को कहा कि वो चाहते हैं कि उनके बेटे आरजेडी नेता तेजस्वी यादव लोकजनशक्ति पार्टी के नेता चिराग पासवान के साथ बिहार में गठबंधन करें। समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में उन्होंने कहा कि मैं दोनों को साथ देखना चाहता हूं। लालू यादव ने कहा कि लोक जनशक्ति पार्टी में अंदरखाने चाहे जो भी हो रहा हो, हमारे लिए तो चिराग पासवान ही एलजेपी के नेता रहेंगे। सोमवार को लालू यादव ने मुलायम सिंह यादव से उनके दिल्ली स्थित आवास पर मुलाकात की थाी। इस दौरान अखिलेश यादव भी उपस्थित थे। मुलायम सिंह यादव के साथ मुलाकात को उन्होंने शिष्टाचार भेंट बताया। उन्होंने कहा कि वह मुलायम यादव का हालचाल जानने आए थे। उन्होंने मुलायम को देश का सबसे अनुभवी समाजवादी नेता बताया। अपने ट्विटर अकाउंट से मुलायम के साथ मुलाकात की फोटो ट्वीट करते हुए उन्होंने लिखा था, समानता और समाजवाद ही देश की जरूरत थे, पूंजीवाद और वामपंथ नहीं।

पेगासस मामले में जांच होनी चाहिए

इस दौरान लालू यादव से पेगासस को लेकर भी सवाल पूछे गए। इस पर उनका जवाब था कि इस मामले में जांच होनी चाहिए। अगर ऐसी साजिश हुई तो जो लोग इस साजिश में शामिल थे उनका नाम सामने आना चाहिए। गौरतलब है कि बीते दिनों पेगासस सॉफ्टवेयर से जासूसी का मामला पूरे देश में चर्चा का विषय बना हुआ है। इस मुद्दे को लेकर विपक्ष ने संसद की कार्यवाही भी बाधित कर रखी है। वहीं लालू आज शरद यादव से मिलने पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि मैं यहां शरद पवार की सेहत के बारे में जानने आया हूं। वह बीमार हैं। उनके बिना संसद भवन सूना-सूना सा है। उन्होंने कहा कि मैं, मुलायम सिंह यादव और शरद पवार तमाम मुद्दों पर साथ रहे हैं।