लापता कमरुज्जमा का लाश उसके चाचा के घर से फंदे से लटकता हुआ बरामद, परिजनों में मचा कोहराम

0
  • सोमवार की दोपहर बाद से ही घर से था लापता
  • परिजन कर रहे थे तलाश तब तक घर के बगल से मिली कमरुज्जमा का फंदे से लटकता हुआ लाश
  • पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना से उठेगा पर्दा
  • कई बिंदुओं पर पुलिस कर रही है अनुसंधान
  • परिजनों के चीत्कार से माहौल हुआ गमगीन

परवेज अख्तर/सीवान:
सोमवार की दोपहर बाद से नगर थाना क्षेत्र के इस्लामिया नगर मोहल्ला से लापता 15 वर्षीय युवक कमरुज्जमा का लाश उसके चाचा के घर से फंदे पर लटकते हुए स्तिथि में पुलिस ने बुधवार की अल-सुबह बरामद किया है। मृत छात्र कमरुज्जमा अंसारी (15 वर्ष) जो नूरुद्दीन अहमद अंसारी का द्वितीय पुत्र बताया जाता है। बतादें कि मृत युवक मैट्रिक का छात्र था। जो मूल रूप से सिवान जिले के एमएच नगर थाना क्षेत्र के पियाउर गांव का रहने वाला है लेकिन वर्तमान समय में वह नगर थाने के इस्लामिया नगर मोहल्ले में बनी हुुई अपने निजी घर में रहकर पढ़ाई करता था। ठीक उसके घर के बगल में उसके सगे चाचा रहमत अली अंसारी का घर है। लेकिन वह अपने पैतृक गांव में रहते हैं। यहां बताते चले कि सोमवार की दोपहर बाद से कमरुज्जमा घर से अचानक गायब हो गया था।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

परिजन उसकी काफी तलाश कर ही रहे थे और स्थानीय थाने को भी इसकी सूचना भी दे दी थी।अभी परिजन तलाश कर ही रहे थे और आवेदन के आधार पर पुलिस जांच ही कर रही थी कि इसी बीच बुधवार की अल-सुबह आसपास के लोगों ने रहमत अली अंसारी के घर से आ रही दुर्गंध को लेकर देखा तो उसी घर में एक रस्सी के फंदे पर लापता कमरुज्जमा लटक रहा था। इसी पर  लोगों ने शोर मचाना शुरू कर दिया। बाद में इस घटना की सूचना लोगों ने स्थानीय नगर थाना पुलिस को दी। जहां सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने रस्सी के फंदे से लटकता हुआ कमरुज्जमा के लाश को नीचे उतरवाया तथा पंचनामा के आधार पर लाश को अपने कब्जे में लेकर बरामद कर पोस्टमार्टम हेतु सिवान सदर अस्पताल भेज दिया। उधर छात्र कमरुज्जमा का लाश मिलने से मोहल्ले में सनसनी फैल गई है।तथा तरह-तरह के अटकलों का बाजार गर्म है लोग जितनी मुंह उतनी बातें कर रहे हैं।

police 1

मृतक दो भाइयों में सबसे छोटा था। बड़ा भाई शमशुज्जमा अंसारी है। दो बहनों में क्रमशः सुमैया तबस्सुम व जैनब तबस्सुम है। घटना के बाद से उसके परिजनों में कोहराम मच गया है। लाश बरामदगी के बाद पिता नुरुद्दीन अहमद अंसारी व माँ शालमुन निशा का रोते-रोते बुरा हाल हो चूका है। उसके दो बहनें व एक भाई के करुण चीत्कार से माहौल गमगीन हो गया है। इस संदर्भ में नगर थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर जयप्रकाश पंडित ने बताया कि परिजनों द्वारा पूर्व में जो आवेदन दी गई है। उस आवेदन पर कांड अंकित की गई है। लेकिन फिलहाल अभी तक किसी भी प्रकार का दूसरा आवेदन परिजनों के द्वारा नहीं दी गई है।

लेकिन इसके बावजूद भी उक्त घटना को लेकर कई बिंदुओं पर गहराई पूर्वक अनुसंधान की जा रही है तथा इस घटना की सूचना वरीय पुलिस पदाधिकारी को भी दे दी गई है। वरीय पुलिस पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में आगे की कार्रवाई की जाएगी। वही दूसरी ओर श्री पंडित ने कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना की सत्यता की जानकारी प्राप्त हो सकेगी कि कमरुज्जमा की मौत का कारण क्या है ?