बड़हरिया के ताजिया में दौड़ी बिजली करंट, इमरान खान की मौत, कई घायल

0
imran khan ki maut
मृतक इमरान खान

लकड़ी दरगाह में मची अफरा-तफरी

घायलों में पिता-पुत्र भी है शामिल

ताजिया में 11 हजार वोल्ट का तार स्पर्श होने से हुई हादसा

परवेज़ अख्तर/सिवान:- जहाँ एक ओर बड़हरिया के दरगाह बाजार मंगलवार की अल सुबह या हसन या हुसैन के नारों से गूंज उठा था तो दूसरी तरफ अचानक चीख पुकार की आवाज से अफरा- तफरी का माहौल कायम हो गया। और देखते ही देखते अखाड़े में मौजूद लोग तितर-बितर हो गए। घटना के सम्बंध में घटनास्थल से प्राप्त विवरण के मुताबिक सिवान जिले के बड़हरिया थाना क्षेत्र के लकड़ी दरगाह गांव का आखाड़ा जुलूस ,मेला स्थल पर आकर्षित ताजिया के साथ भव्य आखाड़ा लेकर पहुँचा ।जहां दोनों समुदाय के लोगों ने इमाम हसन हुसैन की शहादत पर अपनी -अपनी कौशल कला का प्रदर्शन किये। तथा उधर से लौटने के दौरान लकड़ी बाजार स्तिथ पानी टंकी के समीप भव्य आखाड़ा में शामिल एक आकर्षित ताजिया 11 हजार वोल्ट के तार से स्पर्श हो गया। जिससे एक ताजियादार बिजली के आगोश में आ गया।और आखाड़े में मौजूद ताजियादार अभी कुछ समझ पाते कि तब तक लगभग आधा दर्जन ताजियादार चपेट में आ गए।और पल -भर में ही घटनास्थल पर अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया।बाद में आखाड़ा में शामिल अन्य ताजियादारों ने सभी घायलों को प्रथम उपचार के लिए स्थानिय उपप्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लकड़ी दरगाह ले गए ।जहाँ मौजूद चिकित्सकों ने कई लोगों की हालत को गम्भीर देखते हुए सदर अस्पताल रेफर कर दिया।

aag jani

फीका पड़ा ताजिया का मेला

बड़हरिया थाना क्षेत्र के लकड़ी दरगाह गुलाम गौस टोला निवासी इमरान खान की मौत के बाद इस गांव में ताजिया का मेला फीका पड़ गया है। मृतक की माँ तजबुन नेशा का रोते रोते बुरा हश्र हो चूका है उसे क्या पता की मेरे लाडले मुझे ठुकरा कर जिंदगी के उस दहलीज पर ले जाकर खड़ा कर देंगे जहा मेरे रिमझिम आँखों के आशु ही सुख जायेंगे, वहीं पिता कमरुद्दीन खान, भाई गुफरान खान आदि परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। ग्रामीण मो. कयूम, सरर्फुद्दीन, असलम मियां, नूर आलम आदि ने इमरान को काफी मिलनसार बताया। इमरान की मौत के बाद ग्रामीणों ने ताजिया काजुलूस नहीं निकाला।

जहां एक इमाम हसन हुसैन के दीवाने ने रास्ते मे ही दम तोड़ दिया।मृतक की पहचान लकड़ी दरगाह के टोला गुलाम गौस निवासी इमरान खान (23 वर्ष)के रूप में की गई है।जो कमरुद्दीन खान का पुत्र बताया गया है।इमरान जो छपरा स्तिथ राजेन्द्र कॉलेज का स्नातक का छात्र था।उधर उसके मौत से सभी ग्रामीणों का कलेजा झकझोर के रख दिया है।तो दूसरी तरफ उसके परिजनों के आँखों से बहते आसुंओ की कतार देख उपस्तिथ लोग भी अपनी-अपनी आसुंओं को नही रोक पा रहे है।उधर घायलों में क्रमशः नेजाम अली(20 वर्ष) , वीरजहाँ साई साई(50 वर्ष), सैफ अली(20 वर्ष),तथा आरिफ अली(22 वर्ष)शामिल है।

ghayal nizam sai
इलाजरत घायल नेजाम साई

घायलों में नेजाम अली व बिरझन साई जो रिस्ते में पिता-पुत्र है। उधर घटना से आक्रोशित लोगों ने बिधुत बिभाग की लापरवाही के चलते बड़हरिया-मीरगंज व सिवान -लकड़ी दरगाह मुख्य मार्ग को रोड के बीचों बीच मे शव रखकर जाम कर दिया। तथा विधुत विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।दोनों मुख्य मार्ग लगभग 5 घण्टे तक अवरुद्ध रहा।जिससे यात्री व राहगीर भी हलकान में रहे।आक्रोशित ग्रामीणों ने दोनों मुख्य मार्ग पर टायर जलाकर प्रदर्शन किया उधर घटना की सूचना पाकर बड़हरिया थानाध्यक्ष, अंचलाधिकारी, तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी ,व हल्का कर्मचारी, जिले के वरीय प्रशासनिक पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में घटनास्थल के लिए रवाना हुए वहां पहुंचने के बाद सभी पदाधिकारियों ने आक्रोशितों को समझाने का प्रयास किया परंतु आक्रोशित विद्युत विभाग के कर्मचारी पर कार्रवाई वा मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा की मांग पर अड़े रहे बाद में सदर एसडीओ के निर्देश के आलोक के अनुपालन करते हुए बड़हरिया अंचल प्रशासन व प्रखंड प्रशासन संयुक्त रूप से मृतक के परिजनों को मुआवजा के तौर पर चेक काट कर दिया तथा कार्रवाई का भी आश्वासन दिया तब जाकर आक्रोशित ग्रामीण शांत हुए।rote parijanबाद में बड़हरिया थानाध्यक्ष ने शव को पंचनामा के आधार पर बरामद कर पोस्मार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया। खबर लिखे जाने तक सभी घायलों का इलाज चल रहा था जिसमें एक घायल निजाम अली की हालत गंभीर बनी हुई है।

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here