महाराजगंज: मासूम के मौत के बाद पोस्टमार्टम नहीं होने पर आक्रोशितों ने काटा बवाल

0
mang

पुलिस ने आक्रोशितों को समझा-बुझाकर कराया शांत

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के महाराजगंज थाना क्षेत्र के लेरूआ गांव में 20 मई की रात्रि हत्या के बाद ग्रामीणों ने नट बस्ती में पिटायी करते हुये घरों में आग लगा दिया. इतना ही नहीं एक महिला की पिटायी करते हुए उसके तीन बच्चों को आग में जिंदा फेंक दिया. जिससे महिला व उसके तीनों बच्चें झुलस गए. घटना के दिन के पिटायी में घायल व आग में झुलसी महिला की मौत हो गई थी. उसके अगले दिन महिला की पुत्री की मौत पटना में इलाज के दौरान हो गयी. मौत के बाद बच्ची का शव लेकर नट बस्त के लोग सोमवार को सड़क पर उतर आए. शहर के राजेंद्र चौक पर शव के साथ उग्र प्रदर्शन किया गया. इस दौरान आगजनी कर सड़क को जाम कर दिया, जिससे आवागमन पूरी तरह घंटों बाधित हो गया.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

ग्रामीणों की मांग थी कि हमलोगों ने जो प्राथमिकी दर्ज करायी हैं, उसमें छेड़छाड़ की गई है. साथ ही उस कांड में अभी तक एक भी अभियुक्तों की गिरफ्तारी नहीं हुई. ग्रामीणों ने भुअरी कुवंर एवं उसकी मां संजू देवी की मौत पर मुआवजा की मांग पर अडे हुये थे. सूचना मिलने पर थानाध्यक्ष रणधीर कुमार, पुअनि दिलीप कुमार, अनिल सिंह, विनोद कुमार पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर ग्रामीणों से बात करना चाहे, लेकिन ग्रामीण काफी उग्र थे. वे डीएम-एसपी को बुलाने कि मांग कर रहे थे. करीब दो घंटा के बाद थानाध्यक्ष रणधीर कुमार द्वारा काफी प्रयास करने के बाद एवं कांड में जो भी अभियुक्त बनाए गए हैं सभी को जल्द से जल्द गिरफ्तार किए जाने के आश्वासन के बाद जाम को हटवाया.