महाराजगंज: केंद्र सरकार के जन विरोधी, कृषि कानून और महंगाई के खिलाफ भारत बंद के समर्थन में वाम दल करेंगे जन आंदोलन

0

परवेज अख्तर/सिवान: केंद्र सरकार के जन विरोधी, किसान विरोधी और महंगाई के खिलाफ अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले बाम जनवादी के कार्यकर्ताओं की एक बैठक रविवार को शहर के सिहौता बंगरा उच्च विधालय के परिसर में सीपीआईएम नेता मुशी सिंह की अध्यक्षता मे संपन्न हुई.बैठक मे कृषि कानून को लेकर 27 सितंबर को भारत बंद को लेकर विचार विमर्श किया गया.बैठक को सम्बोधित करते हुए सीपीआईएम नेता मुंशी सिंह ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार से आम जनता महंगाई, बेरोजगारी से त्रस्त है तो किसान कृषि बिल के खिलाफ लगातार आंदोलनरत है.मोदी सरकार के इस गैरजिम्मेदाराना रवैया से देश का विकास अवरूद्ध हो गया है.उन्होंने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमारे देश मे जमीन को हमलोग मां के सम्मान मानते है और वही हम अपनी जन्मभूमि पुजीपतियो को दे दे यह कदापि नहीं होगा.उन्होंने ने कहा कि  स्वतंत्रता आंदोलन की 75वीं वर्षगांठ सरकार बड़े पैमाने पर आयोजन करने जा रही है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

इस आंदोलन में 16 अगस्त 1942 को भारत छोड़ो आंदोलन में महाराजगंज में 7 देखती शहीद हुए, यह क्षेत्र स्व डॉ. राजेंद्र बाबू,स्व.फूलेना बाबू एवं स्व. महामाया बाबू का कार्यक्षेत्र रहा है. आजादी के आंदोलन में महाराजगंज के योगदान को देखते हुए इसे अभिलंब जिला का दर्जा मिलना चाहिए.लेकिन आज तक महाराजगंज को जिला का दर्जा नही मिला.अधिवक्ता रविंदर कुमार सिंह ने केंद्र एवं राज्य सरकार को किसान विरोधी बताते हुए कहा कि किसानों द्वारा की जा रही आत्महत्या की दर बढ़ती जा रही है.किसान विरोधी कानून के विरोध में कई माह से आंदोलन चल रहा है.लेकिन केंद्र सरकार बात करना भी वाजिब नहीं समझ रही है. बैठक को सम्बोधित करते हुए कांग्रेस नेता रमेश उपाध्याय ने कहा कि आंदोलन को धार देने के लिए 26 सितंबर को प्रखंड के विभिन्न गांव मे घूम घूम कर किसानों को 27 सितंबर को भारत बंद को सफल बनाने के भाग लेने की अपील की जायेगी.

बैठक को संबोधित करते हुए कांग्रेस के प्रखंड अध्यक्ष पशुराम सिंह ने कहा कि मोदी सरकार अंबानी-अडानी के मुनाफे के लिए जनता को निचोड़ने में लगी है.पिछले डेढ़ वर्षों से महामारी के कारण लोग पहले ही बेहाल हैं.उनके पास रोजगार नहीं है लेकिन सरकार महंगाई पर अंकुश लगाने की कोशिश करने के बजाय आम जनता के जेब पर डाका डालने का काम कर रही है.मोदी सरकार रसोई गैस को हर कुछदिनों पर कीमत बढ़ा रही है.पेट्रोल, डीजल,रसोई गैस व खाद्य तेलों की कीमतों में भारी वृद्धि होने से गरीबों, महिलाओं, मध्यम वर्ग के उपर भारी बोझ पड़ा है.बैठक मे राजद युवा के प्रखंड अध्यक्ष आनंददेव यादव, श्रीराम प्रसाद,सुरेंद्र शाह,राजेंद्र प्रसाद,योगेंद्र सिंह, खालिद हुसैन,जगदीश यादव, सुनील कुमार,जंगबहादुर राम, बासगीत महतो,जितेंद्र यादव, निजामुद्दीन अंसारी, इसमोहम्मद अंसारी,हैदर अली आदि मौजूद थे.

अपनी राय दें!

Please enter your comment!
Please enter your name here