महाराजगंज: बिट्टू हत्याकांड में 48 घंटे बाद भी नहीं हुई अभियुक्तों की गिरफ्तारी

0

परवेज अख्तर/सिवान : स्वर्ण आभूषण के कारीगर बिट्टू कुमार सोनी हत्याकांड में नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी पुलिस के लिए टेढ़ी खीर साबित हो रही है. घटना के 48 घंटे बाद भी पुलिस नामजद मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार नहीं कर सकी है. अलबत्ता हत्या में नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने एक टीम गठित की हैं जो ताबड़तोड़ छापेमारी कर रही है. पुलिस द्वारा की जा रही लगातार कार्रवाई से अबतक एक भी आरोपी पुलिस के गिरफ्त में नहीं आये हैं. जबकि पूछताछ के लिए चार लोगों को लाया गया है. जिनसे हत्या के बाबत पूछताछ की जा रही है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
dr faisal

मृतक बिट्टू कुमार सोनी के जख्मी भाई की तहरीर पर शहर के नखास चौक निवासी स्व. विनोद मियां के पुत्र साहिल खान पुरानी बाजार निवासी इस्लाम मियां के पुत्र बबलू मियां तथा अंबेडकर नगर निवासी परशुराम राम के दो पुत्र विकास राम और लल्लू राम को नामजद करते हुए सात लोगों के खिलाफ थाने में हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराया है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि बिट्टू को चार चाकू लगी थी. जिससे बिट्टू की मौत हो गई थी. पुलिस इस हत्याकांड को पुराने मामलों से जोड़कर देख रही है. हत्या के बाद आक्रोशित ग्रामीणों को पुलिस ने विश्वास दिलाया था कि हत्यारोपियों की 12 घंटे के अंदर गिरफ्तारी कर ली जायेगी. लेकिन 48 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं. ऐसे में पुलिस का विश्वास डगमगाता नजर आ रहा है.

विदित हो की शहर के रेलवे ढ़ाला स्थित संस्कृत विद्यालय परिसर में अपराधियों ने पांच दिन पूर्व स्वर्ण आभूषण के कारीगर को चाकू मारकर मौत के घाट उतार दिया था. वहीं उसके दो सगे भाईयों को चाकू मार बुरी तरह जख्मी कर दिया था. जिनका इलाज पटना पीएमसीएच में हो रहा है.