महाराजगंज में युवक की गोली मारकर हत्या, महिला व मासूम बच्ची की मौत

0
  • आक्रोशितों ने आरोपित के घर में लगायी आग, महिला सहित तीन मासूम को फेंका था आग में
  • महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलंऊ पंचायत के लेरुआ गांव के चिमनी के समीप की घटना

परवेज अख्तर/एडिटर इन चीफ: महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलंऊ पंचायत के लेरुआ गांव के चिमनी के समीप शुक्रवार की रात 9:00 बजे लूट का विरोध करने पर हथियार लैश लुटेरों ने एक बाइक सवार युवक की गोली मारकर हत्या कर दी. वहीं बाइक सवार अपराधियों की गोली से एक युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया. जिसके बाद परिजन और गांव के आक्रोशित भीड़ ने आरोपित के घरों में आग लगा दी. इधर घटना के बाद मौके पर चीख पुकार मच गया. इस हादसे के बाद आक्रोशितों ने महिला सहित तीन मासूम को आग में जिंदा फेंक दिया. जिसमें गंभीर रुप से झुलसी महिला व बच्ची की मौत हो गयी. आक्रोशित भीड़ ने दो अन्य महिला को मारपीट कर घायल कर दिया. घटना के बाद पूरे इलाके में तनाव का माहौल है. पुलिस मामले की जांच में जुट गई है. गोलीबारी में मृत बाइक सवार युवक की पहचान लेरुआ गांव निवासी संजय साह के पुत्र सागर साह के रूप में हुई है. वहीं अपराधियों की गोली से घायल युवक गांव निवासी श्रीकांत प्रसाद का पुत्र प्रिंस कुमार है. आरोपित पक्ष से मरने वाली महिला की पहचान 32 वर्षीय संजू देवी व फिरोज नट की पुत्री रूकसाना के रूप में हुई है. आगजनी की घटना में झुलसने वाले लोगों की पहचान गोलू कुमार, सेब कुमार, फिरोज नट की पुत्री रुक्साना के रूप में हुई है.

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

WhatsApp Image 2022 05 21 at 8.56.38 PM

  • सागर की हत्या की प्राथमिकी दर्ज
  • आरोपी के धरपकड़ में लगी पुलिस
  • घर छोड़ लापता हुए  आरोपी हत्यारे

महाराजगंज थाना क्षेत्र के लेरूआ गांव में बरात जा रहे युवक को गोली मार हत्या करने की प्राथमिकी महाराजगंज थाने में मृतक सागर साह की माता अनिता देवी के बयान पर प्राथमिकी संख्या 151/ 22 दर्ज कराई है. प्राथमिकी में मां ने कहा है कि गांव से बरात एकमा थाना जा रही थी. रात 9 बजे के करीब बरात जा रही महिलाओं के बोलेरो को रोककर आभूषण की लूट पाट की गयी. 20 वर्षीय सागर साह के विरोध करने पर नट गिरोह के अपराधियों ने मेरे पुत्र सागर साह को गोली मार दी. बाइक पर सवार होकर जा रहे सागर के दोस्त प्रिंस ने आपबीती सारी दस्तान सुनाई. मां के बयान पर बलउ निवासी फिरोज नट, धर्मेंद्र नट, केशव नट तथा चंद्रभान नट तथा दो अज्ञात व्यक्ति को नामजद किया गया है. इंस्पेक्टर रणधीर कुमार ने बताया अपराधियों के धर-पकड़ के लिए छापेमारी चल रही है. सभी आरोपी फरार हैं

बरात में जाने के दौरान महिलाओं से लूटपाट कर रहे थे लुटेरे

जानकारी के अनुसार बताते चलें कि महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलंऊ पंचायत के लेरुआ गांव से शुक्रवार की शाम डॉ.राजेन्द्र मिश्रा के पुत्र का बरात छपरा के लिए गया था. इस शादी समारोह में दुल्हन की बहन समेत परिवार की अन्य महिलायें एक गाड़ी में सवार होकर शुक्रवार की रात तकरीबन 9:00 बरात में शामिल होने के लिए निकली थी इसी दौरान घर से तकरीबन आधा किलो मीटर की दूरी पर हथियार लैस लुटेरों ने महिलाओं के साथ मोबाइल पैसा आदि कई चीजों की लूट कर ली. इसी दौरान गांव के ही संजय शाह का 20 वर्षीय पुत्र सागर शाह उसी शादी समारोह में जाने के लिए अपने मित्र  प्रिंस को लेकर बाइक से निकला था. महिलाओं के साथ अपराधियों को लूट कर के देख उन्होंने इसका विरोध किया तो अपराधियों ने सीधे सागर साह को गोली मार दी. बाइक सवार युवक की मौके पर ही मौत हो गई. वहीं बाइक के पीछे  बैठे उसके साथ ही प्रिंस कुमार पीछे कमर में गोली लगी इसके बाद वह गंभीर रुप से जख्मी हो गया.

आक्रोशित भीड़ ने लगाया आरोपित के घर मे आग

इधर युवक की हत्या के बाद आक्रोशित लोगों ने आरोपितों के घरों पर पहुंचकर तोड़फोड़ और आगजनी की. लोगों ने आरोपितों के पांच झोपड़ीनुमा मकानों में आग लगा दी. साथ ही आरोपियों के घरों में घुसकर महिलाओं समेत तकरीबन आधा दर्जन लोगों को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया. इस हादसे में एक महिला की मौत हो गई जबकि आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए.मृतका की पहचान महाराजगंज थाना क्षेत्र के बलंऊ पंचायत के लेरुआ गांव निवासी 32 वर्षीय संजू देवी के रूप में हुई है. जबकि घायलों में गोलू कुमार, सेबू कुमार, फिरोज नट की पुत्री रोचसाना कुमारी समेत अन्य आधा दर्जन लोग घायल है. जिन का इलाज सीवान के सदर अस्पताल में चल रहा है.

सागर का शव पहुंचते ही गांव में मचा कोहराम परिजनों का रो – रोकर बुरा हाल

महाराजगंज थाना क्षेत्र के नेरूआ गांव निवासी सजय साह के 20 वर्षीय पुत्र सागर कुमार का पोस्टमार्टम कर शनिवार कि सुबह शव गांव पहुंचते ही गांव में कोहराम मच गया.सबकी आंखें नम थी.बता दे कि सागर कुमार की हत्या नेरूआ गांव स्थित चिमनी के समीप अपराधियों द्वारा महिलाओं के साथ लुटपाट के विरोध करने पर अपराधियों द्वारा शुक्रवार की रात तकरीबन 9 बजे अज्ञात बाइक सवार अपराधियों द्वारा हत्या कर दी गई.शनिवार को सागर का शव उनके पैतृक गाँव मे ज्योहि पहुंचा गांव में कोहराम मच गया.उनके परिवार के लोगो का रो रो कर बुरा हाल है.शव का अंतिम संस्कार उनके गांव नेरूआ में किया गया.