विवाहिता खुशबू कुमारी यादव की हत्या मामले के आरोपित पुलिस गिरफ्त से बाहर, छापेमारी के नाम पर पुलिस कर रही है खानापूर्ति 

0
police

परवेज़ अख्तर/सिवान:
जिले के एमएच नगर थाना क्षेत्र के बड़का टड़िला गांव में 29 सितंबर की रात दहेज के लिए विवाहिता की हुई हत्या मामले के आरोपित दो माह बाद भी पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं। हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने से स्वजनों में पुलिस प्रशासन के प्रति नाराजगी देखी जा रही है।वहीं इस संबंध में पूछे जाने पर थानाध्यक्ष अभिषेक कुमार ने बताया कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। सभी आरोपित घर छोड़कर फरार बताए जाते हैं।ज्ञात हो कि एमएच नगर थाना क्षेत्र के बड़का टड़िला गांव में 29 सितंबर की रात ससुराल वालों ने दहेज के लिए विवाहिता खुशबू कुमारी की हत्या कर दी थी। साक्ष्य मिटाने के लिए शव को जला दिया था। इस मामले में मृतका की बहन प्रीति कुमारी ने थाने में आवेदन देकर मृतका के पति नागेंद्र यादव, ससुर बाबुराम यादव समेत सास, ननद व देवर के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए मृतका के पति को 30 सितंबर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया, शेष अन्य आरोपित फरार बताए जाते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस हत्यारोपित के घर छापेमारी के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति करती है। जानकारी के अनुसार शेखपुरा निवासी अवधेश यादव की पुत्री खुशबू कुमारी यादव की शादी बड़का टड़िला निवासी बाबूराम यादव के पुत्र नागेंद्र यादव के साथ 22 अप्रैल 2016 को हुई थी। विवाह में हैसियत के अनुसार उपहार वगैरह भी दिया गया था, लेकिन शादी के एक माह बाद ससुराल वालों द्वारा और दहेज की मांग को ले उसे प्रताड़ित किया जाने लगा। मांग पूरी नहीं होने पर ससुराल वालों ने 29 सितंबर की रात उसकी हत्या कर साक्ष्य छुपाने को ले शव को जला दिया था।