मैरवा: सुपारी के रुपए मांगने पर हत्या कर फेंका था शव

0
  • अपने प्रेमिका के पति की हत्या के लिए दिया था सुपारी
  • घर में छूटे दुखी गोड़ के मोबाइल से खुला हत्या का राज

परवेज अख्तर/सिवान: जिले के मैरवा थाना क्षेत्र के परसिया खुर्द गांव में दुखी गोड़ की हत्या कर फेंके गये शव की घटना का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। दुखी गोड़ की हत्या अवैध संबंध को लेकर हुई थी। दुखी गोड़ और अपराधियों से बीच सुपारी के रुपए को लेकर विवाद के बाद हत्या हुई थी। हत्या में शामिल हरनाथपुर गांव के करण यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी अन्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। दो दिन पूर्व चुपचुपवां गांव के दुखी गोड़ गोली मार कर हत्या किये जाने के बाद पुलिस ने विशेष टीम का गठन किया था। पुलिस ने 48 घंटे में घटना का खुलासा किया है। पुलिस के अनुसार दुखी गोड़ के एक महिला से अवैध संबंध की बात सामने आयी है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
camp

उसके अवैध संबंध की जानकारी उसके प्रेमिका के पति को मिल गयी थी। इसके बाद दुखी ने उसके पति की हत्या कराने का प्लान बनाया था। हत्या के लिए दो लोगों को बीस हजार रुपया की सुपारी दी थी। सुपारी लेने वाले अपराधी उसके प्रेमिका के पति को मारने में विफल रहे। जिसके बाद वह सुपारी के दिये रुपए वापस मांग रहा था। रुपए मांगने के दौरान अपराधियों ने विवाद के बाद दुखी की हत्या कर शव को फेंक दिया। हत्या की घटना में दो अपराधी शामिल हैं। करण यादव को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

जबकि उसके साथी के गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है। चुपचुपवां गांव के रहने वाले दुखी के मोबाइल से उसकी हत्या का राज खुला है। घटना से कुछ घंटे पूर्व वह अपना मोबाइल घर में छोड़कर गया था। उसके बाद उसकी हत्या की गयी। पुलिस उसके मोबाइल पर अंतिम समय पर आये काल के बारे में छानबीन कर अपराधी तक पहुंच गयी। अपराध को अंजाम देने वाला अपराधी उसके बगल के गांव का रहने वाला है। दुखी से उसकी दोस्ती की बात से इंकार नहीं किया जा सकता है।