मौलाना हामिद रजा शम्सी ने मुसलमानों का पवित्र महीना रमजानूल मुबारक की फजीलत बयान की

0

परवेज अख्तर/सिवान: मुसलमानों का पवित्र महीना रमजान आ गया है और इस महीने की तैयारियां जोरों पर चल रही है। रमजान के रूप में भी जाना जाता है, यह महीना इस्लामिक कैलेंडर के नौवें महीने में आता है, जिसे दुनिया भर के मुसलमानों द्वारा मनाया जाता है। पवित्र रमजान के दौरान, मुसलमान सुबह से शाम तक खाने-पीने से परहेज करते हैं। उक्त बातें पचरुखी प्रखंड के तरवारा बाजार स्थित मदरसा जामिया बरकातीया अनवारूल उलूम के हेड मास्टर मौलाना हामिद रजा शम्सी ने रमजानूल मुबारक पर फजीलत बयान करते हुए कही। उपवास शुरू करने के लिए, मुसलमान सेहरी का सेवन करते हैं, और फिर मुसलमान इफ्तार पर दावत देते हैं, जो रात का भोजन है। जिससे शाम की नमाज के बाद उपवास तोड़ा जाता है।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
ahmadali
ADDD

रमजान की तिथियां अलग-अलग होती हैं क्योंकि ये तिथियां चंद्र कैलेंडर पर निर्भर होती हैं। अर्धचंद्र दिखाई देने के बाद पवित्र महीना शुरू हो जाता है।यह देखते हुए कि रमजान का महीना इस साल 3 अप्रैल से शुरू होने की उम्मीद है, हम सुपर आसान, स्वस्थ और पोषक तत्वों से भरपूर रेसिपी लेकर आए हैं, जो सेहरी के लिए तैयार की जा सकती हैं। उक्त बातें पचरुखी प्रखंड के तरवारा बाजार स्थित जामिया बरकातीया अनवारूल उलूम के हेड मास्टर मौलाना हामिद रजा शम्सी ने रमजानूल मुबारक पर फजीलत बयान करते हुए कही। मुस्लिम समुदाय के सभी लोगों के लिए रमजान का यह त्यौहार बहुत ही ज्यादा स्पेशल माना जाता है, क्योंकि इस रमजान के महीने को पूरा मुस्लिम समुदाय एक साथ मिलजुल कर बड़े ही प्यार से और हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं।