कोविड-19 टीकाकरण को लेकर मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का हुआ आयोजन

0
  • टीकाकरण कार्य में मीडिया की भूमिका पर हुई चर्चा
  • जिले में प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को लगेगा टीका
  • 7500 सरकारी व 1720 निजी स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा तैयार
  • 7000 आईसीडीएस कर्मियों का भी डाटा तैयार
  • सीफार के सहयोग से मीडिया कार्यशाला का आयोजन

छपरा: जिला प्रतिरक्षण कार्यालय सभाकक्ष में जिला प्रतिरक्षण कार्यालय व सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च के सहयोग से कोविड-19 टीकाकरण की तैयारियों को लेकर एक दिवसीय मीडिया कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला का शुभारंभ सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा व प्रभारी जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने संयुक्त रूप से किया। इस मौके पर सिविल सर्जन डॉ. माधवेश्वर झा ने बताया कोविड-19 टीकाकरण को लेकर विभाग की ओर से तैयारी लगभग पूरी कर ली गयी है। यहां पर 9000 लीटर के क्षमता वाला वाल्क इन कुलर की स्थापना की जाएगी । कोविड टीका के रखरखाव को लेकर सभी आवश्यक तैयारी लगभग पूरी कर ली गयी है। जिले में कोविड-19 टीकाकरण की तैयारी अपने अंतिम चरण में है। जिलास्तर से लेकर प्रखंडस्तर तक टास्क फोर्स का गठन कर दिया गया है। कोविड-19 टीकाकरण की तैयारियों की प्रत्येक सप्ताह समीक्षा की जा रही है। प्रथम चरण में निजी व सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकरण किया जाना है। कोविड-19 टीकाकरण का कार्य भारत एवं राज्य सरकार से प्राप्त मार्ग निर्देश के अनुसार प्रारंभ होगा। इस मौके पर प्रभारी जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह, विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डॉ. रंजितेष कुमार, यूनिसेफ के एसएमसी आरती त्रिपाठी, सीफार के राज्य कार्यक्रम प्रबंधक रणविजय कुमार, सीफार के प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गणपत आर्यन, कोल्ड चैन मैनेजर अंशुमन पांडेय समेत अन्य मौजूद थे। आगत अतिथियों का स्वागत प्रमंडलीय कार्यक्रम समन्वयक गणपत आर्यन ने किया, वही धन्यवाद ज्ञापन राज्य कार्यक्रम प्रबंधक रणविजय कुमार ने किया।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

मीडिया संवेदीकरण कार्यशाला का हुआ आयोजन

7500 सरकारी व 1720 निजी स्वास्थ्य कर्मियों का डाटा तैयार

प्रभारी जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने बताया जिले में अब 7500 सरकारी व 1720 निजी स्वास्थ्य कर्मियो का डाटा तैयार कर लिया गया है। इन सभी लोगों का डाटा कोविन पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। इसी तरह से आईसीडीएस के करीब 7000 कर्मियों का डाटा बेस तैयार किया गया है। जिनका प्रथम चरण में टीकाकरण कार्य किया जाना है।

कोविड-19 टीकाकरण कार्य में मीडिया की भूमिका अहम

प्रभारी जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. दिलीप कुमार सिंह ने बताया कोविड-19 संक्रमण के जोखिम को कम करने एवं आमजनों को इससे बचाव के उपाय सम्बन्धी जागरूकता के प्रचार-प्रसार में मीडिया के भूमिका का विशेष महत्व है। इस कोरोना काल में मीडिया के प्रतिनिधियों ने भी कोरोना वारियर एवं कोरोना फाइटर की पंक्ति में अपनी विशेष पहचान बनाई है। टीकाकरण कार्यक्रम के कवरेज में मीडिया की भूमिका भी अहम रहेगी। अतः इसी उद्देश्य से इस मीडिया सेंसिटाईजेसन कार्यशाला का आयोजन किया गया है।

प्रखंड स्तर पर दिया जा रहा है प्रशिक्षण

यूनिसेफ के जिला समन्वयक आरती त्रिपाठी ने बताया कोविड-19 टीकाकरण को लेकर कर्मियों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। राज्य से लेकर जिलास्तर पर प्रशिक्षण का कार्य किया जा रहा है। इसके मास्टर ट्रेनरों के द्वारा टीकाकरण को लेकर प्रशिक्षित किया जा रहा है। कोविड-19 की पड़ने वाली वैक्सीन को लेकर जिले में सभी स्तर के कर्मियों को तैयार किया जा रहा है। स्वास्थ विभाग में काम कर रहे हैं आशा कार्यकर्ता, एएनएम, जीएनएम स्तर के भी कर्मियों को कोविड-19 के टीकाकरण को लेकर जिला स्वास्थ विभाग तैयारी पूरी कर रही है।

तीन कमरों का होगा टीकाकरण स्थल

विश्व स्वास्थ्य संगठन के एसएमओ डॉ रंजितेश कुमार ने बताया प्रथम फेज में स्वास्थकर्मी को टीका लगाए जाने की योजना है। टीकाकरण के लिए जो साइट चिन्हित होगा। उसमें तीन कमरे होंगे पहला कमरा में जिसका रजिस्ट्रेशन हो चुका है, उसका पोर्टल पर वेरिफिकेशन किया जाएगा। वेरीफिकेशन संपुष्टि होने पर उसे वैक्सीनेशन रूम में भेजा जाएगा और वैक्सीन लगाया जाएगा, उसके बाद व्यक्ति को तीसरे कमरे में ऑब्जरवेशन के लिए भेजा जाएगा। जहां आधा घंटा के लिए उन्हें रखा जाएगा। ताकि किसी तरह का यदि रिएक्शन होता है। तो तत्क्षण उनका इलाज किया जा सके और आधे घंटे के बाद उन्हें भेज दिया जाएगा।