सतत व सम्मानजनक आय के लिए मिश्रित कृषि जरूरी

0
kishan

परवेज अख्तर/सिवान : सतत एवं सम्मानजनक आय के लिए मिश्रित कृषि करना अत्यंत ही जरूरी है। इससे कृषि एवं संबंधित कारोबार की उत्पादकता तो बढ़ेगी ही साथ ही साथ किसानों की आर्थिक व सामाजिक स्थिति में भी आमूल-चुल परिवर्तन होगा। उक्त बातें नाबार्ड के डीडीएम मो. आफताबुद्दीन ने आंदर प्रखंड के पतार में मिश्रित कृषक गौतम पांडे के कृषि फर्म में आयोजित किसान सभा में कही। उन्होंने कहा कि आज के प्रतिस्पर्धी दौर में कृषि को लाभदायी कारोबार बनाने के लिए लगातार इनोवेशन की जरूरत है। परफेक्ट विजन के सचिव मनोज मिश्र से कहा कि इनोवेशन कार्य में लगे जिले के किसानों का आकलन कर अपेक्षित परियोजना प्रस्ताव नाबार्ड को प्रस्तुत करें ताकि उन्हें हर संभव सहयोग प्रदान किया जा सके। इसके पूर्व डीडीएम एवं सचिव ने मिश्रित कृषक गौतम पांडेय द्वारा एक साथ किये जा रहे मछली पालन, मेंथा के तेल उत्पादन, केला, ओल एवं अरहर की खेती के साथ मोती उत्पादन कार्य का गंभीरता पूर्वक निरीक्षण किया।इस अवसर पर एकबाल हुसैन, राजेंप्रसाद, उदय प्रसाद सिंह, रवींद्र मिश्र, शिवसागर यादव, गौतम कुर्मी एवं परवेज आलम सहित एफपीओ से जुडे दर्जनों मिश्रित कृषक उपस्थित थे।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal