हुसैनगंज में गला दबा कर सिंधु देवी की हत्या, प्राथमिकी दर्ज

0

परवेज अख्तर/सीवान:
जिले के हुसैनगंज थाना क्षेत्र के छाता गांव के नोनिया टोला में सोमवार की सुबह एक महिला की गला दबा हत्या कर दी गई। घटना का अंजाम देने के बाद ससुरालवाले मौके से फरार हो गए है। पुलिस के अनुसार प्रथम दृष्टया 22 वर्षीया सिंधु देवी की हत्या गला दबा की गई है। इस मामले में पुलिस ने मृतका की सास को गिरफ्तार कर लिया है। मायके वालों का कहना है कि उनकी गर्भवती बेटी की हत्या सास और बड़ी ननद ने मिलकर की है। सिंधु की शादी दो साल पहले ही प्रदीप महतो से हुई थी।

विज्ञापन
pervej akhtar siwan online
aliahmad
dr faisal

आंदर थाने के हसनपुरवा गांव निवासी और सिंधु की मां निर्मला देवी ने थाने में आवेदन देकर घटना की जानकारी देते हुए सास निर्मला देवी, ससुर कृष्णा महतो और ननद को आरोपित किया है। सिंधु की मां का आरोप है कि उनका दामाद कोलकाता में रहकर काम करता है। जो अभी वहीं पर है। शादी के समय जो बन पड़ा मैंने अपनी बेटी को गिफ्ट दिया। लेकिन, शादी के बाद से ही चार चक्के की बोलेरो गाड़ी के लिए उसकी बेटी को तंग करने व मारपीट करने की घटना को अंजाम दिया जाता रहा। प्रदीप भी फोन करके उसकी बेटी को परेशान करता था। इस बात को लेकर पंचायती भी हुई थी।

पड़ोस के लोगों ने दी हत्या की सूचना

सिंधु की हत्या की खबर पड़ोस के लोगों ने फोन करके ससुरालवालों को दी। मृतका के चाचा और हसनपुरवा निवासी प्रमोद कुमार ने बताया कि उनलोगों को सुबह 6 बजे सूचना मिली कि सिंधु बीमार है, आकर देख लें। इसके बाद जब हमलोग मौके पर पहुंचे तो देखा कि सिंधु को मृत अवस्था में दरवाजे पर लिटाया गया है और घर पर कोई नहीं है। बेटी को मृत अवस्था में पाया देख मां निर्मला देवी और मायके के सभी लोग फफक-फफक कर रो पड़े। इधर मौके पर मौजूद मृतका की छोटी ननद भी दहाड़ मारकर रो रही थी। पड़ोस के लोग भी इस घटना हृदयविदारक से गमगीन थे।