चीनी मिल सीमांकन के विरोध में एनएच जाम कर प्रदर्शन, लाठीचार्ज

0
police lathi charge

दो को पुलिस ने किया गिरफ्तार, दस नामजद व 100 अज्ञात पर प्राथमिकी की कार्रवाई

परवेज अख्तर/सिवान : पचरुखी चीनी मिल की भूमि के सीमांकन के विरोध में शुक्रवार को पूर्वाह्न 10 बजे सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण चीनी मिल की भूमि समीप पहुंच गए तथा एनएच 85 को जाम कर प्रदर्शन करने लगे। प्रदर्शन के दौरान सभी ग्रामीण प्रशासन विरोधी नारेबाजी कर रहे थे। इस कारण एनएच पर गाड़ियों की लंबी कतार लग गई। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे डीसीएलआर से ग्रामीणों पक्के निर्माण की बाबत सवाल पूछा तो उन्होंने जानकारी नहीं दी। पुलिस की मौजूदगी में शुक्रवार की सुबह पीलर खड़ा कर रहे मजदूरों को ग्रामीणों ने ईंट-पत्थरों से मार भगा दिया। इसके बाद ग्रामीणों ने पक्का निर्माण को रोकने की कोशिश की तो प्रशासन ने ग्रामीण महिलाओं एवं पुरुषों पर लाठी चार्ज कर दिया। पचरुखी में चीनी मिल की नीलामी का विरोध कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने जमकर लाठियां चटकाईं। फलस्वरूप दो दर्जन महिलाएं एवं पुरुष घायल हो गए। घायलों का इलाज पचरुखी पीएचसी में चल रहा है। भाजयुमो महामंत्री सह किसान नेता त्रिलोकी सिंह ने प्रशासन पर असंवैधानिक कार्य करने का आरोप लगाया। त्रिलोकी सिंह ने कहा कि जिस जमीन पर प्रशासन द्वारा जबरन भू माफिया को कब्जा दिलाया जा रहा है, उसका अभी तक संबंधित पक्ष का मियूटेशन भी नहीं हो पाया है। उक्त जमीन का राजस्व अभी तक स्थानीय किसान ही दे रहे हैं, दूसरी ओर इससे संबंधित मामला हाई कोर्ट में लंबित है। बिना हाई कोर्ट के किसी आदेश के ही प्रशासन आनन-फानन में भू-माफिया को कब्जा दिलाने के उद्देश्य से पक्का निर्माण करा रहा है, जिससे स्पष्ट है कि गरीब एवं अनपढ़ किसानों को धोखा देने की कवायद चल रही है।भाजयुमो महामंत्री त्रिलोकी सिंह ने कहा कि प्रशासन ने हमारे दो लोगों को गिरफ्तार कर कहीं छुपा दिया है। संभव है उनके साथ मारपीट की जा रही होगी। ग्रामीण अमरेश सिंह, योगेंद्र सिंह, सत्यदेव सिंह, संजय सिंह, राजेंद्रर सिंह, अनूपा देवी, शिवजी सिंह, किस्मती देवी समेत दर्जनों लोगों ने कहा कि आखिर हमारे विधायक व सांसद किस दिन के लिए हैं, जो विपत्ति के समय हमारा साथ नहीं दे रहे हैं।hadtal in siwan

किसान नेता की गिरफ्तारी के विरोध में आमरण अनशन पर बैठे ग्रामीण

पचरुखी प्रखंड परिसर में किसान नेता की गिरफ्तारी के विरोध में ग्रामीण आमरण अनशन पर बैठ गए। इस मौके पर जदयू विधायक पुत्र, त्रिलोकी प्रसाद समेत काफी संख्या में महिला-पुरुष शामिल थे। वहीं थानाध्यक्ष अमित कुमार सिंह ने बताया कि गिरफ्तार दोनों लोगों को सड़क जाम करने में नामजद करते हुए जेल भेजा जा रहा है,जबकि दस लोगों को नामजद तथा एक सौ अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज किए जाने की प्रक्रिया चल रही है।